DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाशिंगटन में मिली गांधी के भाषण की दुर्लभ रिकॉर्डिंग

महात्मा गांधी के एक ऐतिहासिक भाषण की दुर्लभ रिकॉर्डिंग वाश्िंागटन में मिली है। यह भाषण अंग्रेजी में है और इसे उनकी हत्या से कुछ महीने पहले रिकॉर्ड किया गया था। यह अंग्रेजी में गांधीजी के दो दुर्लभ भाषणों में से एक है। इस टेप को नेशनल प्रेस क्लब के पूर्व प्रमुख जॉन कोसग्रोव ने 60 वषरे तक संभाले रखा। उन्हें बापू के इस भाषण की ऐतिहासिक महत्ता तब समझ में आई, जब इत्तेफाक से उनकी मुलाकात गांधीजी के पौत्र एवं उनके जीवनीकार राजमोहन गांधी से हुई। अल्फ्रेड वॉग नामक एक पत्रकार ने दिल्ली में 2 अप्रैल, 1ो गांधी द्वारा दिए गए भाषण को रिकॉर्ड किया था। यह रिकॉर्डिंग इसी भाषण की है। जब राजमोहन गांधी, महात्मा गांधी की जीवनी को प्रोमोट करने के लिए पिछले साल अप्रैल में नेशनल प्रेस क्लब आए तो उन्होंने कोसग्रोव को इस रिकाडिर्ंग की महत्ता समझाई। गांधी की मातृभाषा गुजराती थी, पर वह हिंदी में भाषण दिया करते थे। उन्होंने सिर्फ दो मौकों पर अंग्रेजी में भाषण दिया। गांधी ने यह भाषण जवाहरलाल नेहरू द्वारा आयोजित एशियाई नेताआें के सम्मेलन में दिया था। गांधी इस टेप में दर्ज भाषण में कह रहे हैं, ‘‘मैं आपको पूरब या फिर कहें एशिया का संदेश देना चाहता हूं। हमें पश्चिम के तनाव का अनुकरण नहीं करना है। हम पश्चिमी दुनिया की बारूद, बम और गोले की नीति का अनुकरण न करें। अगर आप पश्चिम को कोई संदेश देना चाहते हैं तो यह संदेश प्यार का ही हो सकता है।’’ इस रिकॉडिर्ंग में गांधी के भाषण पर उस पत्रकार की कमेंट्री भी है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वाशिंगटन में मिला गांधी का दुर्लभ भाषण