अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुस्लिम धर्मगुरु बोले हम मायावती के साथ

अमेरिका से परमाणु करार पर मुस्लिम धर्मगुरुओं ने गुरुवार को मुख्यमंत्री मायावती से मुलाकात की। इन सभी ने करार का विरोध करने और मुस्लिम वर्ग के लिए निर्भीक, स्पष्ट और खुलकर विचार व्यक्त करने के लिए मुख्यमंत्री का शुक्रिया अदा किया।ड्ढr मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर शिया व सुन्नी धर्मगुरु पहुँचे थे। उन्होंने मायावती से कहा कि वे उनके साथ हैं। धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि वह अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर अमेरिका से देश विरोधी समझौता न होने दें। मुलाकात करने वालों में मौलाना कल्बे सादिक, मौलाना हमीदुल हसन, मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली, नायब इमाम ईदगाह, मौलाना फालुर्रहमान, इमाम टीले वाली मसिद, मौलाना नईमुर्रहमान, मौलाना अलीम फारूकी, सैयद एा अहमद, सिराा मेंहदी, वसीम रिावी, सैय्यदोहीरुल हसन, अमीरुल हसन एवं अन्य प्रमुख लोग थे। शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बेोव्वाद ने भी फोन पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। धर्मगुरुओं ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि परमाणु करार न कियाोाए, क्योंकि अमेरिका, इस्लाम के खिलाफ है। उनका यह भी कहना था कि ईरान से गैस पाइपलाइन पर समझौता न कर भारत अच्छा नहीं कर रहा। उन्होंने अफसोसोताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने सामान्य शिष्टाचार का निर्वाह न करके उनके पत्र की पावती तक नहीं भेाी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुस्लिम धर्मगुरु बोले हम मायावती के साथ