DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूसरे दिन भी नहीं खुले कॉलेजों में ताले

ॉलेज कर्मचारियों की हड़ताल के कारण विश्वविद्यालय व कॉलेजों में लगातार दूसर दिन ताला लटका रहा। बिहार राज्य विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय कर्मचारी महासंघ की हड़ताल का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। भारी बरसात में भी कर्मचारी कैंप लगाकर कॉलेजों व विश्वविद्यालयों में डटे रहे और कोई कामकाज नहीं हो सका। महासंघ के संयुक्त मंत्री रामशंकर मेहता ने बताया कि नौ विश्वविद्यालय और 250 प्रस्वीकृत कॉलेजों में शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक कार्य बिल्कुल ठप है। भागलपुर विवि से अमरंद्र कुमार झा व सुशील मंडल, मिथिला विवि से ललित चंद्र झा व भरत राय, बीएन मंडल विवि से त्रिभुवन प्रसाद सिंह व रूद्र नारायण यादव, बिहार विवि से एमपी जायसवाल व विजय कृष्ण राय, जय प्रकाश विवि से व्रजकिशोर सिंह व हरिहर मोहन, संस्कृत विवि से गोपाल झा, वीर कुंवर सिंह विवि से चितरांन प्रसाद सिंह व विजय कुमार सिंह, मगध विवि से अनिल कुमार शर्मा व राजनंदन सिंह और पटना विवि से ब्रह्मचारी जवाहर कृष्ण व विमल प्रसाद ने बताया कि सभी स्थानों पर कार्य पूरी तरह से ठप है।ड्ढr ड्ढr महासंघ के संरक्षक राजेंद्र मिश्र व अध्यक्ष डा. विमल प्रसाद सिंह ने छात्र, शिक्षक, अभिभावक, बुद्धिाीवियों से अनुरोध किया है कि राज्य सरकार पर दबाव बनाकर शैक्षणिक स्थिति को बहाल कराएं। वहीं पटना विवि कॉलेज कर्मचारी संघ के महासचिव मो. कैसर ने बताया कि दरभंगा हाउस समेत सभी कॉलेजों में कामकाज ठप रहा और मांगों को माने जाने तक हमारी हड़ताल जारी रहेगी। टीपीएस कॉलेज कर्मचारी संघ के अध्यक्ष वेंकटेश कुमार व सचिव राजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि कॉलेज में हड़ताल पूरी तरह से सफल है। वहीं हड़ताल के कारण एएन कॉलेज, कॉलेज ऑफ कॉमर्स समेत राजधानी स्थित मगध विवि के सभी कॉलेजों में कामकाज बाधित रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दूसरे दिन भी नहीं खुले कॉलेजों में ताले