DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईरान पर एकतरफा हमला मंजूर नहीं

भारत ने कहा है कि उसे ईरान के खिलाफ कोई भी एकतरफा सैन्य कार्रवाई पूरी तरह ‘अस्वीकार और अवांछनीय’ है और विश्व समुदाय को भी इसे अस्वीकार करना चाहिए। विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने बुधवार को मिस्र् के विदेश मंत्री अहमद अब्दुल घेट से बातचीत के बाद कहा, ‘ईरान के संदर्भ में मैं मिस्र् के विदेश मंत्री से पूरी तरह सहमत हूं कि किसी तरह की सैन्य कार्रवाई नहीं होनी चाहिए। दरअसल हम किसी भी प्रतिरोधी कार्रवाई के खिलाफ हैं।’ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में मुखर्जी ने कहा कि ईरान के साथ मुद्दों को बातचीत के जरिए हल करना चाहिए और एक संप्रभु देश व संयुक्त राष्ट्रसंघ के सदस्य के खिलाफ कोई भी एकतरफा सैन्य कार्रवाई पूरी तरह अस्वीकार और अवांछनीय है। किसी को भी इसमें शामिल नहीं होना चाहिए। भारत ने फलस्तीनी क्षेत्र में क्षरायल की ‘आक्रामक कार्रवाई’ की भी परोक्ष रूप से आलोचना की और कहा कि दोनों देशों को अपनी निर्धारित सीमाओं में शांतिपूर्वक रहना चाहिए। उन्होंने कहा, भारत स्थायी शांति चाहता है और दोनों देशों को जरूरी तौर पर अपनी-अपनी सीमा में रहना चाहिए। मुखर्जी ने गुरुवार को अरब लीग के प्रमुख अम्र मउस्सा से भेंट की और तेल की बढ़ती कीमतों, मध्य-पूर्व के हालात व भारत-पाक वार्ता पर चर्चा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ईरान पर एकतरफा हमला मंजूर नहीं