अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालू को पटखनी देने के लिए नीतीश ने चुना ‘हुनर’ का रास्ता

बिहार में अल्पसंख्यक मुस्लिम लड़कियों को हुनर कार्यक्रम के जरिये रोगारोन्मुख तालीम उपलब्ध करा कर राजद नेता लालू यादव के वोट बैंक में सेंध लगाने की पहल तेज कर दी गई है। राज्य की राजनीति में एमवाई (मुस्लिम-यादव) फामरूला राजद को सत्तासीन करने में निर्णायक भूमिका निभाता रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पहले चरण में राज्य में बारह हाार मुस्लिम लड़कियों को मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था की जायेगी। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग और बिहार की शिक्षा परियोजना परिषद के सहयोग से चलाये जाने वाले इस कार्यक्रम के माध्यम से ग्राम सखी ,ाूट उत्पादन , सिलाई-कटाई , प्रारंभिक शिशु देख-भाल आदि दर्जन भर विषयों में डिप्लोमा उपलब्ध कराया जायेगा। मुफ्त मे किताबें देने के साथ डिप्लोमा प्राप्त करने वाले छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए राज्य सरकार सिलाई मशीन भी उपलब्ध करयेगी। इन कार्यक्रमों को मदरसे, मकतबा और दारुल-उलूम जसे परंपरागत शिक्षा केंद्रों के जरिये संचलित किया जायेगा।ड्ढr इस पहल के जरिये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुस्लिम आबादी में अपनी पैठ बनाने की कोशिश तेज कर दी है। मुख्यमंत्री ने बताया कि बाद में इस परियोजना में पचास हाार लड़कियों को शामिल किया जायेगा। केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री एम.ए.ए. फातमी ने बाताया कि राज्य में चल रहे 14,000 मदरसों में शिक्षा की ऐसी व्यवस्था की जायेगी ताकि व्यावसायिक तालीम के जरिये गरीबी और गुरबत की जिन्दगी जी रहीं लड़कियों को ंआत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी। बिहार पहला ऐसा राज्य है, जहां सर्वाधिक मुस्लिम लड़के-लड़कियां स्कूलों से बाहर हैं। नीतीश कुमार ने कहा इस कार्यक्रम से लड़कियों में रोगार पाने की ललक बढ़ेगी ।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लालू को पटखनी देने के लिए नीतीश का रास्ता