DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेल परियोजना में तेजी

राज्य की रल परियोजनाओं के कार्य में प्रगति आयी है। गुरुवार को विकास आयुक्त एके सिंह की अध्यक्षता में हुई समीक्षात्मक बैठक में रलवे के वरीय अधिकारियों ने बताया कि काम में तेजी आयी है। भूमि अधिग्रहण के मुद्दे सिर्फ एक-दो स्थानों पर लंबित हैं। पुराने एमओयू की तिथि समाप्त हो चुकी है। नया एमओयू 50:50 पर राज्य सरकार करगी। इस पर सैद्धांतिक सहमति भी बन चुकी है। पहले यह अनुपात 66:33 का था।ड्ढr विकास आयुक्त हर दो माह पर रल परियोजनाओं की समीक्षा करंगे। साथ ही हर पखवार में परिवहन आयुक्त राजीव अरुण एक्का को समीक्षा करने की जवाबदेही दी गयी है। रलवे को हर महीने खर्च का उपयोगिता प्रमाण पत्र देने का निर्देश दिया गया है।ड्ढr रांची-कोडरमा लाइन : बरही में भूमि का अधिग्रहण कर लिया गया है। पहले कुछ परशानी थी।ड्ढr कोडरमा-तिलैया लाइन : फॉरस्ट क्िलयरंस नहीं मिला है। केंद्र को लिखा जा रहा है। फिर भी काम चल रहा है।ड्ढr दुमका-रामपुर हाट लाइन : यहां भी फॉरस्ट क्िलयरंस का मामला लंबित है, लेकिन काम प्रभावित नहीं हुआ है। केंद्र को एनओसी के लिए लिखा जा रहा है।ड्ढr दुमका-देवघर लाइन : सिर्फ एक छोटा सा प्लाट अधिग्रहण के लिए लंबित है। राज्य सरकार अधिग्रहण की कार्रवाई कर रही है।ड्ढr शिवपुर-टोरी लाइन : यह हिस्सा पुराने एमओयू से बाहर है। बड़ा भूभाग वन क्षेत्र में पड़ता है। केंद्र सरकार से जल्द एनओसी देने का आग्रह किया गया है।ड्ढr कोडरमा-हजारीबाग लाइन : बड़गांव में 10 प्लाट ऐसे हैं, जिस पर गैर मजरुआ और रैयती भूमि का विवाद है। एसडीओ को जमीन की जांच कर उसकी प्रकृति बताने का आदेश दिया गया है।ड्ढr चतरा-मंझगांव खंड : इस स्थान पर नक्सिलयों द्वारा इटखोरी के निकट रोलर जला दिया गया था। यहां पुलिस बल तैनात कर 10 दिन काम करवाया गया। बरसात के कारण मिट्टी का काम रोक दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रेल परियोजना में तेजी