अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलित छात्र की शायरी बनी मौत का सबब

उच्चोाति की लड़की को क्षहार-ए-इश्क की शायरी लिखने पर दलित छात्र को मौत की साा मिली। छात्र की हत्या का आरोप किसी और पर नहीं स्कूल के अध्यापक पर लग रहा है। बेरहम शिक्षक की पिटाई से छात्र ने दम तोड़ दिया। पुलिस कहती है कि छात्र की मौतोहर खाने से हुई है,ोबकि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। दलित वर्ग के लोग शिक्षक पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं। क्षेत्र में दोनों वर्गो के बीच तनाव बना हुआ है।ड्ढr घटना हिमाचल क जिला ऊना क गांव नंगल कलां की है। दा दिन पहल गांव क ही सरकारी हाई स्कूल मं दसवीं क छात्र सुरजीत ने उच्च वर्ग की एक छात्रा को इश्किया शायरी लिखकर दे दी। इसकीोानकारी होने पर उच्चवर्ग के एक शिक्षक ने स्कूल क प्रांगण मं बेंच पर लिटा कर निर्ममता स छात्र की पिटाई कर दी। हालत बिगड़न लगी ता अध्यापक न उस स्कूल स भगा दिया। बुधवार को छात्र बहाशी की हालत मं गांव स कुछ दूर सड़क किनार गिरा पड़ा मिला। परिजन उसे अस्पताल लेोा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। मामला दबान क लिए छात्र क परिजनां का दा लाख रुपए दन की पेशकश भी हुई। मृत छात्र के रिश्तदारां न बताया कि उन पर दबाव बनायाोा रहा है कि वह समझौता कर लें। पुलिस ने शव को कबे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए ो दिया। कुछ छात्रों ने बताया कि सुराीत ने बात- बात में शायरी लिखकर छात्रा को दे दी थी। शिक्षक ने उसे बहुत बुरी तरह से पीटा। अधमरा होने के बाद छात्र इस कदर डरा हुआ था कि वह अपने घर भी नहीं गया। इलाा नहीं होने के कारण उसकी हालत बिगड़ती गई।ड्ढr छात्र की मां कौशल्या दवी न रोते हुए कहा कि उनके बेटे की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। उसकी पीठ पर पड़ गहर नील रंग क निशान इसके सुबूत हैं। हराली के थाना प्रभारी ने बिना पास्टर्माटम रिपोर्ट आए ही अंदा लगाते हुए कहा कि छात्र की मौतोहर खाने से हुई है। एसपी ज्ञानश्वर सिंह न कहा है कि मामले कीोांच करवाईोाएगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दलित छात्र की शायरी बनी मौत का सबब