अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्यादेश पर वार्ता

एचइसी प्रबंधन एवं कोल इंडिया के अधिकारियों के बीच तीन जुलाई को कार्यादेश पर वार्ता हुई। कोलकाता में हुई इस वार्ता में एचइसी के निदेशक मार्केटिंग भरत प्रसाद ने हिस्सा लिया। मिली जानकारी के अनुसार पांच क्यूबिक मीटर शॉवेल पर वार्ता हुई। एचइसी की ओर से इसका कार्यादेश मांगा गया।ड्ढr एचइसी के पास फिलहाल एक भी शॉवेल का कार्यादेश नहीं है। कोल इंडिया ने कहा है कि यदि समय पर इसकी आपूर्ति की गयी, तो कार्यादेश देने पर विचार किया जा सकता है।ड्ढr वरीयता पर नियुक्ित कर प्रबंधन: यूनियनड्ढr हटिया प्रोजेक्ट वर्कर्स यूनियन ने एचइसी प्रबंधन से मृत कर्मचारियों के आश्रितों को वरीयता के आधार पर सप्लाई में नौकरी देने की मांग की है। यूनियन के महासचिव राणा संग्राम सिंह ने कहा है कि जब तक स्थायी नौकरी नहीं मिलती, तब तक इन्हें सप्लाई पर रखना चाहिए। सिंह ने पूर्व कर्मचारियों के मेडिकल सुविधा पर रोक लगाने का भी विरोध किया है। उनका कहना है कि एलटीएल में क्वार्टर लेने के बाद निर्माण कार्य करना अवैध नहीं है। उन्होंने राज्य सरकार से एचइसी को शीघ्र ही 100 करोड़ रुपये देने का आग्रह भी किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कार्यादेश पर वार्ता