DA Image
19 जनवरी, 2020|2:20|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की सीपीआई ने

सीपीआई ने लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू करते हुए कार्यकर्ताओं को महंगाई विरोधी आंदोलनों को तेज करने का निर्देश दिया है। पार्टी ने भाजपा गठबंधन वाली पार्टियों को हराने के लिए वामपंथी एवं जनवादी दलों से सीटों का तालमेल करने का भी निर्णय किया है। साथ ही लोकसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने सूबे में अगले छह महीने तक के आंदोलनात्मक कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है। पार्टी ने छात्र-नौजवानों को संगठन में भर्ती करने का निर्णय लिया है।ड्ढr ड्ढr सीपीआई की राज्य कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए महासचिव ए बी वर्धन ने कहा है कि पार्टी भारत अमेरिका असैन्य परमाणु समझौता के सभी खतरनाक प्रावधानों को जनता के बीच ले जाएगी। व्यापक अभियान चलाकर लोगों को इसकी जानकारी देगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को महंगाई, महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण, सच्चर कमेटी की अनुशंसाओं और खेत मजदूरों के लिए कानून बनाने की चिन्ता नहीं है। पर देश की सार्वभौमिकता, आंतरिक सुरक्षा एवं स्वतंत्र विदेश नीति को आघात पहुंचाने वाली परमाणु समझौता को लागू करने की हड़बड़ी है।ड्ढr ड्ढr कांग्रस इस समझौते से देश के ऊर्जा संकट के हल की बात कहकर लोगों को गुमराह कर रही है। वह समझौते में शामिल हाइड कानून एवं अन्य खतरनाक प्रावधानों की चर्चा नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि समझौते के बाद वर्ष 2020 तक मात्र 4 फीसदी ऊर्जा का ही उत्पादन बढ़ेगा। राज्य कार्यकारिणी की बैठक में राष्ट्रीय सचिव गुरुदास दासगुप्ता, सांसद श्रीमती अमरजीत कौर, गया सिंह, नागेन्द्र नाथ ओझा समेत प्रदेश के सभी नेता उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता विधायक राजेन्द्र प्रसाद सिंह ने की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की सीपीआई ने