अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुलपति आवास पर छात्रों का हंगामा

निर्धारित समय पर सत्र शुरू न होने पाने से छात्रों का आक्रोश गुरुवार को फूट पड़ा। आक्रोशित छात्रों ने कुलपति आवास पर लगभग दो घंटे तक प्रदर्शन किया। छात्रों के प्रदर्शन के दौरान जब विवि प्रशासन की तरफ से कोई पदाधिकारी उनकी बात नहीं सुनने आया तो छात्रों का आक्रोश बढ़ता गया। कुछ छात्र कुलपति आवास के गेट को फांद कर भीतर प्रवेश कर गए। इस दौरान वहां पर प्रतिनियुक्त जवानों ने उनको रोकने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं रुके और कुलपति आवास में पोर्टिको तक पहुंच गए। आक्रोशित छात्रों ने कुलपति से निंद्रा भंग कर विश्वविद्यालय में शैक्षणिक माहौल बहाल करने की मांग की।ड्ढr ड्ढr भीतर जवानों व पदाधिकारियों के समझाने-बुझाने पर छात्र शांत हुए और उन्हें आवास से बाहर निकाला जा सका। छात्रों का कहना था कि अभी तक लगभग 18 हाार छात्रों को रिाल्ट का इंतजार करना पड़ रहा है और इससे स्थिति विकट होती जा रही है। कुलपति आवास पर पटना विवि एनएसयूआई, छात्र राकांपा व छात्र जदयू ने संयुक्त रूप से प्रदर्शन किया और अंक पत्र की छायाप्रति जलायी गयी।ड्ढr ड्ढr प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे एनएसयूआई के वरीय नेता वरुण शर्मा व दीपक प्रकाश सिंह, छात्र राकांपा के विवि अध्यक्ष मदन कुमार गुप्ता व प्रदेश महासचिव मो. तनवीर अहमद और छात्र जदयू के मुकेश कुमार सिंह व तहसीन राा ने कहा कि कुलपति को अपने आवास से बाहर निकल कर वास्तविक स्थिति देखनी चाहिए। कुलपति अपने आवास में चैन की नींद सो रहे हैं और छात्रों को न मूल प्रमाण पत्र मिल रहा है, न ही अंक पत्र। सरकार भी पूर मामले में चुप्पी साधे है। हाारों छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। छात्र नेताओं ने कहा कि आंदोलनकारी छात्र नेताओं पर डीन द्वारा मुकदमे की धमकी दी गयी, लेकिन हम छात्र हित के लिए अपना आंदोलन जारी रखेंगे। प्रदर्शन में चंदन, विकास, संजीव, आशुतोष, रांीत, जावेद, आसिफ, राजेश, सुधांशु, जितेंद्र समेत दर्जनों छात्रों ने भाग लिया। विवि कर्मियों की हड़ताल पर शुरू हुई राजनीतिड्ढr पटना (हि.प्र.)। विश्वविद्यालय व कॉलेज कर्मचारियों की हड़ताल पर राजनीति शुरू हो गयी है। एआईएसएफ ने सरकार का अर्थी जुलूस निकाला। वहीं छात्र लोजपा ने बीएन कॉलेज के सामने अशोक राजपथ को जाम कर दिया। वहीं सीनेट सदस्य ने भी कर्मचारियों की मांगों को मानकर गतिरोध दूर किए जाने की बात कही है।ड्ढr ड्ढr ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरशन के पटना जिला परिषद की तरफ से छात्र व शिक्षा विरोधी सरकार का अर्थी जुलूस निकाला गया। संघ ने इस मौके पर कहा कि शिक्षा मंत्री को 30 जून को कर्मचारियों की हड़ताल रोकने के लिए ज्ञापन सौंपा गया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। पटना कॉलेज में जुटकर छात्रों ने अर्थी जुलूस निकाला। इस मौके पर राज्य सचिव मदन मोहन मुरारी, उपाध्यक्ष विश्वजीत कुमार, जिला सह सचिव सुशील कुमार, रौशन कुमार, नीरा, कन्हैया, पप्पू यादव, श्रीकांत, सुशील झा व प्रवीण ने सभा को संबोधित किया। छात्र लोजपा के द्वारा बीएन कॉलेज के सामने अशोक राजपथ को जाम कर दिया गया। उन्होंने बीएन कॉलेज में चल रही बीबीए की नामांकन प्रक्रिया को भी ठप करा दिया। छात्र नेताओं ने कहा कि कर्मचारियों की हड़ताल का हम समर्थन करते हैं और सरकार को वाजिब मांगों को मानकर तत्काल हड़ताल समाप्त कराना चाहिए। सड़क जाम में राहुल, मनीष, विकास, पूजा, शाहिद, विक्की, राकेश, अंकिता समेत भारी संख्या में छात्रगण उपस्थित थे।पटना विवि सीनेट सदस्य अशोक कुमार ने कहा कि कुछ प्रशासनिक पदाधिकारियों की मनमानी के कारण कर्मचारी हड़ताल पर गए हैं। ऑल इंडिया यूथ फेडरशन के प्रदेश अध्यक्ष रामाकांत अकेला ने विविकर्मियों की हड़ताल को समाप्त कराने के लिए सरकार से सकारात्मक पहल की अपील की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कुलपति आवास पर छात्रों का हंगामा