अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएफसी के मैनेजर समेत 9 भेजे गए जेल

कम राशि का बैंक ड्राफ्ट जमा करके अधिक खाद्यान्न का उठाव करने के गोरखधंधे में शामिल बिहार खाद्य निगम के जिला प्रबंधक अशोक कुमार सिंह समेत नौ सरकारी कर्मियों को विजिलेंस की टीम ने गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया।ड्ढr इस घोटाले में एसएफसी के जिला प्रबंधक श्री सिंह के अलावे बोधगया के गोदाम मैनेजर दिनेश प्रसाद सिंह , गया के गोदाम प्रबंधक नागेन्द्र भूषण, मखदुमपुर, बोधगया, अतरी, मोहड़ा व कलेर के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों तथा एसएफसी कार्यालय के दो एकाउंटेंट रामदेव सिंह और डी जी गुप्ता सहित जन वितरण प्रणाली के 4डीलरों पर पटना के निगरानी थाने में भ्रष्टाचार निरोध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।ड्ढr ड्ढr निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी महाराजा कनिष्क कुमार सिंह और मृत्युंजय कुमार चौधरी के नेतृत्व में विजिलेंस की टीम ने तीन दिनों तक एसएफसी के जिला कार्यालय में संचिकाओं की जांच पड़ताल की। जांच-पड़ताल में यह तथ्य सामने आया कि 500 रुपए का ड्राफ्ट जमा कर डीलर ने पांच हजार का अनाज उठा लिया है। यह गोरखधंधा जिला कार्यालय के कर्मियों की मिलीभगत से की गई है। विजिलेंस की टीम ने अति गोपनीय तरीके से यहां कैंप कर कम बैंक ड्राफ्ट से अधिक के खाद्यन्न उठाव की जांच की। विजिलेंस की जांच दल ने 32 लाख रुपए के मामलों को पकड़ा लेकिन पदाधिकारियों ने आनन-फानन में डीलरों से 28 लाख रुपए जमा करा लिए। गोरखधंधे में लिप्त जिला प्रबंधक अशोक सिंह, एजीएम नागेन्द्र भूषण , एकाउंटेंट डी जी गुप्ता और रामदेव सिंह समेत चार प्रखंडों के एमओ से पूछताछ की और पटना ले जाकर गुरुवार को जेल भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एसएफसी के मैनेजर समेत 9 भेजे गए जेल