अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नालंदा में पंचाने और मुहाने के तटबंध टूटे

नदियों में आए उफान से दर्जनों गांवों के लोगों का जीना मुहाल हो गया है। चंडी के बदरवाली गांव के पास मुहाने तथा हरनौत के खरथुआ के समीप पंचाने नदी के तटबंध टूट जाने से कई नए गांवों में पानी प्रवेश कर गया है। चंडी की गंगौरा पंचायत के कई गांवों के दर्जनों कच्चे मकान ध्वस्त हो गये हैं। नरसंडा के समीप मुहाने नदी पर बने पुल पर से पानी बह रहा है। वहीं नरसंडा-सालेपुर पथ डीहरा के समीप टूट गया है। फलत: इसपर आवागमन बाधित हो गया है। मुहाने नदी के तट पर बसे मोसिमपुर (चंडी) गांव में नदी का पानी प्रवेश कर गया है।ड्ढr ड्ढr कैमूर में हुई भारी बारिश से दुर्गावती का ककरैत घाट पुल और रामपुर का चंदेल बांध टूट गया, जिससे वाहनों का परिचालन एवं राहगीरों का आवागमन ठप हो गया तथा कई गांवों में पानी घुस गया। पहाड़ी पानी की तेज धार से रामपुर प्रखंड के भीतरी बांध के शिव कुमार राम, बीतन राम एवं जीउत राम के तीन-तीन कच्चा मकान ध्वस्त हो गए। चंदेल बांध टूटने से पुनाव, भोरया, सोनाव, अहिरांव सहित कई गांवों में पानी घुस गया है। भगवानपुर प्रखंड में सोन नहर कैनाल का पड़ौती- डंगरा फॉल भी टूट गया है। चैनपुर प्रखंड के हाटा-बरडीहा पथ पर वाहनों का परिचालन पूरी तरह ठप है, जबकि हाटा-सेमरियां, बखारी देवी- रामगढ़, बड़ौना इत्यादि पथों में कटाव हो जाने से आवागमन बंद हो गया है।ड्ढr इधर उत्तर बिहार की नदियों के जलस्तर में उतार-चढ़ाव जारी है। गंडक नदी के अधिकांश स्थानों पर पानी का दबाव बढ़ा है। कुछ स्थानों पर तटबंधों में कटाव होने की सूचना है।ड्ढr ड्ढr गुरुवार को वाल्मीकिनगर गंडक बराज से एक लाख 46 हाार क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इससे तटबंधों पर बढ़ गया है। बगहा के पारसनगर, अग्रवाल वाटिका, पूअर हाउस पर नदी दबाव बढ़ा हुआ है। ठकराहां के बहेलिया एवं पिपरासी के भैंसहिया में कटाव और तेज हो गया है। मसान नदी का दबाव शेरवा में बढ़ गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नालंदा में पंचाने और मुहाने के तटबंध टूटे