DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई की दर बढ़कर 11.63 प्रतिशत हुई

प्राथमिक वस्तुआें और खाद्य उत्पादों के महंगा होने से महंगाई की दर 0.21 प्रतिशत और बढ़कर 21 जून को समाप्त हुए सप्ताह में 11.63 प्रतिशत के शिखर पर पहुंच गई। पिछले तीन सप्ताह से महंगाई की दर लगातार 11 प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है। गत वर्ष आलोच्य अवधि में महंगाई की दर 4.32 प्रतिशत थी। सरकार की तरफ से शुक्रवार को जारी महंगाई के आंकड़ों के मुताबिक 26 अप्रैल को समाप्त अवधि में यह पहले के 7.61 प्रतिशत की तुलना में बढ़कर 8.27 प्रतिशत पर स्थाई हो गई। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस सिलेंडर के दामों में भारी बढ़ोतरी के कारण महंगाई की दर सात जून को समाप्त हुए सप्ताह में 13 वर्ष के अंतराल के बाद पहली बार ग्यारह प्रतिशत से ऊपर निकली थी और उसके बाद से यह लगातार बढ़ रही है। महंगाई को काबू में करने के लिए रिजर्व बैंक ने पिछले माह रेपो दर और नगद सुरक्षित अनुपात (सीआरआर) में वृद्धि की थी। वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने गत सप्ताह महंगाई दर के दहाई अंक में बने रहने की संभावना जताई थी और उनका मानना है कि इसे नीचे आने में तीन माह का समय लगेगा। महंगाई को काबू में करने के लिए इस्पात उत्पादकों की गुरुवार को सरकार के साथ बैठक में कुछ उत्पादों के दामों में दस प्रतिशत तक कमी किए जाने पर सहमति है। इसके अलावा सरकार ने घरेलू स्तर पर मक्का की आपूर्ति बढाने के लिए 15 अक्टूबर तक इसके आयात पर रोक लगा दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगाई की दर बढ़कर 11.63 प्रतिशत हुई