अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उचित समय पर देंगे वाम दलों को जवाब: कांग्रेस

परमाणु करार पर समाजवादी पार्टी का समर्थन हासिल होने के बाद वाम दलों की 7 जुलाई की समय सीमा को कोई खास तवजो नहीं देते हुए कांग्रेस ने कहा कि सरकार उचित समय पर जवाब दे देगी। पार्टी ने यह भी स्पष्ट किया कि करार पर समर्थन हासिल करने के लिए समाजवादी पार्टी के साथ कोई गुप्त सौदा नहीं हुआ है और उसके सरकार में शामिल करने का निर्णय खुद सपा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन और प्रधानमंत्री पर निर्भर है। पार्टी प्रवक्ता ने संवाददाताआें से कहा कि पार्टी ने करार पर सपा का समर्थन मिलने के बावजूद वाम दलों को हाशिए पर नहीं डाला है और वे आज भी सरकार के सहयोगी दल हैं। वाम दलों ने परमाणु समन्वय समिति के संयोजक विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी को आज भेजे एक पत्र में 7 जुलाई तक यह स्पष्ट करने को कहा है कि सरकार परमाणु करार पर अंतरराष्ट्रीय परमाणु एजेंसी जा रही है या नहीं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सपा नेता मुलायम सिंह एवं अमर सिंह ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी दोनों से मिलकर करार को देश के हित में बताया है और उनका यह रूख स्वागत योग्य है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि परमाणु करार को किसी धार्मिक समुदाय की भावना से जोडना उचित नहीं है और यह करार सभी के हक में है। यह पूछने पर कि क्या 7 जुलाई को प्रस्तावित आईएईए गवर्नर बोर्ड की बैठक में भारत संबंधी सुरक्षा उपाय समझौते पर हस्ताक्षर हो सकते हैं प्रवक्ता ने कहा कि यह फैसला सरकार को करना है। करार के समर्थन के एवज में दो मंत्रियों को केबिनेट से हटाने की सपा की कथित मांग के बारे में पूछने पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सपा ने परमाणु करार को राष्ट्रहित में बताया है और दूसरे मुद्दों पर उनकी राय अलग हो सकती है। जरूरी नहीं है कि कांग्रेस भी उन मुद्दों पर उससे इत्तफाक रखे। चार साल से सरकार का समर्थन करते आ रहे वाम दलों का भी कई मामलों में सरकार से मतभेद रहा हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उचित समय पर देंगे वाम को जवाब: कांग्रेस