अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बनता-बिखरता मोर्चा

मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी ने तीसर मोर्चे को नमस्कार कर दिया। वे मुलायम सिंह यादव जो कल तक तीसर मोर्चे के सबसे बड़े पैरोकार थे और इसके लिए देश भर में अलख जगाते घूम रहे थे। वामपंथियों पर महा इसलिए ताने कस रहे थे कि वे कांग्रेस के पिछलग्गू हो लिए हैं। मुलायम सिंह यादव के इस पाला बदल से सबसे ज्यादा परशान तेलुगू देशम पार्टी है। वही तेलुगू देशम पार्टी जो पिछली बार भाजपा की सरकार बनवाने के लिए ऐन वक्त पर तीसर मोर्चे को दगा दे गई थी और उस सरकार के जाते ही फिर से तीसर मोर्चे के पार्किंग लॉट में खड़ी हो गई। फिलहाल तीसर मोर्चे में जयललिता भी हैं। वही जयललिता जिनके कांग्रेस के साथ और विरोध में रहने का एक लंबा इतिहास रहा है। यह उतना ही लंबा है जितना उनका राजनैतिक करियर। इसलिए मुलायम सिंह यादव का इस मोर्चे को अलविदा कह जाना किसी को हैरत में नहीं डालता। तीसरा मोर्चा देश के राजनैतिक फलक का ऐसा चांद है जिसका शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष तो काफी स्पष्ट होता है लेकिन पूरी अमावस्या या पूर्णिमा शायद कभी नहीं होती। जो सत्ता पक्ष के अंधेरों और विपक्ष की परछाई में चमकने और धूमिल पड़ जाने को बाध्य और अभिशप्त है।ड्ढr राजनीति में मोर्चे तब बनते हैं जब विभिन्न दल समान हितों के चलते एक मंच पर जमा होते हैं। तीसर मोर्चे की खासियत सिर्फ एक है कि इसके भीतर के दलों के हित कहीं भी समान नहीं हैं, पर वे एक-दूसर से सीधे तौर पर टकराते भी नहीं हैं। उनके बीच उन्हें जोड़ने वाला चुंबकीय तत्व भले ही न हो लेकिन उन्हें विलगाने वाला कोई बड़ा बल भी नहीं है। इस मोर्चे में जो राजनैतिक दल आते-ााते रहते हैं, वे अपने अपने राज्य की भौगोलिक सीमाओं के शेर हैं और अपनी इन भौगोलिक सीमाओं की राजनैतिक मजबूरियों में रहकर ही वे दिल्ली की सत्ता में हिस्सेदारी भी चाहते हैं। इसीलिए जब-ाब दिल्ली में राजनैतिक अस्थिरता मंडराती है तो तीसरा मोर्चा एक मंडी में बदल जाता है, जिसका सौदा सफल हुआ वही राज चला पाएगा, यही राजग ने किया था। और संप्रग की सरकार के सबसे मुखर मंत्री लालू यादव भी कभी तीसर मोर्चे के सबसे बड़े नेताओं में गिने जाते थे। मुलायम सिंह यादव की राजनैतिक मजबूरियां जरूर नई हैं, लेकिन उनके जसे नेता के कांग्रेस के साथ खड़े हो जाने में नया कुछ भी नहीं है। तीसर मोर्चे में कुछ भी मुमकिन है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बनता-बिखरता मोर्चा