अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंत्रियों पर हो एफआइआर

झारखंड प्रदेश भाजपा ने राज्य के मंत्रियों के पास आय से अधिक संपत्ति का आरोप लगाते हुए सीएम से उनके विरुद्ध अविलंब एफआइआर करने और बर्खास्त करने की मांग की है। साथ ही कहा है कि राज्य सरकार इस पर कोई कार्रवाई नहीं करती है तो केंद्र पूर मामले की सीबीआइ जांच कराये।ड्ढr प्रतिपक्ष के नेता अजरुन मुंडा और प्रदेश अध्यक्ष पीएन सिंह ने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि अब यह किसी मंत्री नहीं, राज्य के पूर मंत्रिमंडल का विषय है, जिस पर स्थिति स्पष्ट होनी चाहिए। राज्य सरकार अगर इस मुद्दे को नजरअंदाज करती है तो भाजपा राज्यपाल से मुलाकात करगी। उनसे हस्तक्षेप का आग्रह करगी। फिर भी अगर कुछ नहीं हुआ तो आठ जुलाई को होनेवाली प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में राजभवन के समक्ष धरना और उसके बाद राष्ट्रपति को ज्ञापन देने के अलावा दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना देने का फैसला किया जायेगा। इसके बावजूद कार्रवाई नहीं हुई तो भाजपा राज्यव्यापी आंदोलन करगी। जेल भरो आंदोलन का रास्ता अख्तियार करगी।ड्ढr उन्होंने नरगा के लाभुकों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए बीडीओ के निलंबन को औपचारिकता बताया। बीडीओ को बर्खास्त करने की मांग करते हुए कांग्रेस पर अपने स्वार्थ के लिए सरकार को समर्थन देते रहने का आरोप लगाया। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार बनी तो मंत्रियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार की जांच करायी जायेगी। मानसून सत्र में सदन के भीतर और बाहर आंदोलन करगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंत्रियों पर हो एफआइआर