DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

बिहार और झारखंड के बंटवार के आठ साल पूर होने को हैं। लेकिन दोनों राज्यों की संपत्ति और देनदारियों का बंटवारा अभी तक पूरा नहीं हो पाया है। अभी इसमें और कितना वक्त लगेगा, कहना मुश्किल है। इसे लेकर दोनों राज्यों के अफसरों की कई बार बैठकें हुईं। कभी रांची तो कभी पटना में, लेकिन हर बैठक का नतीजा सिफर रहा। कई बोर्ड और निगम बंटवार की आस में त्रिशंकु की तरह लटके हैं। झारखंड के कई बोर्ड-निगमों की करोड़ों की संपत्ति पर अभी भी बिहार दावेदारी ठोक रहा है। जबकि बिहार पुनर्गठन कानून में साफ है कि ये परिसंपत्तियां झारखंड की होंगी। आखिर कब तक यह मसला लटका रहेगा? दोनों राज्यों के अफसरों को जल्द ही यह काम पूरा कर संशय की स्थिति खत्म करनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो टूक