DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

17 साल बाद शुरू हुआ आरिफ का इलाज

साल बाद सलीम और जुलैखा के दरवाजे पर आज इतनी भीड़ लगी कि सब हतप्रभ थे। पैरामेडिकल स्टाफ के साथ आई एंबुलेंस जब उनके बड़े बेटे आरिफ को इलाज के लिए ले जा रही थी तो मुहल्ले के लोगों की आंखें भर आईं। इस दरवाजे पर इतने अफसर, गाड़ियां और लोग इससे पहले कभी नहीं देखे थे। यह सब‘हिन्दुस्तान’ में प्रकाशित उस खबर का असर था जिसमें भागलपुर दंगे के दौरान अपनी आंखों से मारकाट देख विक्षिप्त हो जाने वाले इस नौजवान का सच छुपा था। कौड़ी-कौड़ी को मोहताज आरिफ को गरीब-अमीर का फर्क दिखाने वाली बीपीएल सूची में अमीर दर्शा दिया गया था। बेड़ियों से जकड़े इस नौजवान की फोटो देख प्रशासन नींद से जागा। 17 साल बाद ही सही इसकी सुध ली गई। कमिशनर अखिलेश्वर प्रसाद गिरी ने स्वास्थ्य विभाग को तत्काल उसके इलाज का इंतजाम करने को कहा। आरपीएफ क्वार्टर की छत ढहीड्ढr आरा (ए.प्र.)। दानापुर रल मंडल के कारीसाथ रलवे स्टेशन पर अवस्थित आरपीएफ क्वार्टर की छत भारी बारिश के कारण अचानक ढह गयी। इससे जहां स्टेशन पर अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई वहीं तैनात आरपीएफ के जवानों ने किसी तरह भाग कर जान बचायी। आरपीएफ के स्थानीय पदाधिकारी द्वारा इस संबंध में एक त्राहिमाम संदेश आरपीएफ कमांडेंट व डीआरएम को भेजा गया है। कारीसाथ रलवे स्टेशन पर आरपीएफ के सिपाही संतोष कुमार तथा अशोक कुमार तैनात थे। वे लोग प्लेटफार्म पर गश्त लगाकर क्वार्टर में लौटे ही थे कि क्वार्टर की छत का आधा हिस्सा ढह गया। ढहने की आवाज सुनकर दोनों जवान किसी तरह जान बचाकर क्वार्टर से निकलने में सफल रहे वहीं छत ढहने की आवाज से प्लेटफार्म पर अफरातफरी मच गई। पेट्रोल टैंकर फूंकने के दौरान फायरिंगड्ढr छपरा (छ.सं.)। छपरा-पटना मुख्य मार्ग पर परमानंदपुर के निकट पेट्रोल लदी टैंकर को फूंकने का प्रयास कर रही भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। हालांकि फायरिंग की इस घटना में जानमाल की क्षति नहीं हुई। उक्त टैंकर की चपेट में आ जाने से नयागांव थाने के किताबगंज निवासी सुदेश्वर सिंह के 35 वर्षीय व्यक्ित संजय कुमार की मौत हो गई। उक्त दुर्घटना से आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीणों ने छपरा-पटना मार्ग को जाम कर दिया। साथ ही टैंकर के शीशे तोड़ने व टायर की हवा निकालने के बाद उसमें आग लगाने का प्रयास किया। टैंकर में आग लगने से संभावित बड़े हादसे को रोकने के उद्देश्य से घटनास्थल पर पहुंची नयागांव व सोनपुर पुलिस द्वारा शुक्रवार की रात करीब पौने आठ बजे फायरिंग की गई। तब जाकर भीड़ तितर-बितर हुई। प्रभुनाथ के रिश्तेदारों पर प्राथमिकीड्ढr छपरा (छ.सं.)। रिलिवगंज थाने के मेथवलिया गांव के समीप शराब निर्माण की अवैध फैक््रिटयों में छापेमारी व जब्ती के बाद विभाग ने जदयू संसदीय दल के नेता व महाराजगंज के सांसद के दामाद, दामाद के भाई व अन्य रिश्तेदारों तथा कर्मचारियों पर उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं गिरफ्तार चार कर्मियों रामानंद चौधरी, सत्येन्द्र कुमार पांडेय, चन्द्रकेत सिंह तथा कृष्णा प्रसाद सोढ़ी को जेल भेज दिया गया है। अवर निरीक्षक नरन्द्र प्रसाद साहू ने प्राथमिकी में (वीआईपी) विश्वनाथ इंडियन हर्ब्स प्रोडक्ट्स के संचालक व सांसद के दामाद राजकमल तथा पंकज कुमार सिंह (पिता- स्व. दिलीप कुमार सिंह) तथा योगी बाबा आयुव्रेदिक अनुसंधान भवन के संचालक राजेश्वर कुमार सिंह (पिता- स्व. जितेन्द्र सिंह) को अभियुक्त बनाया है। टॉवर लगाने को लेकर गोलीबारीड्ढr दरौंदा (सीवान) (ए.सं.)। दरौंदा थाना क्षेत्र के सवान गांव में विवादास्पद भूमि पर एयरटेल का टावर लगाने को लेकर दो गुटों में अंधाधुंध फायरिंग हुई। दोनों तरफ से दर्जनों चक्र गोलियां चलाई गई। गोलीबारी से गांव में अफरातफरी मच गई। हालांकि इस गोलीबारी में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है। गोलीबारी के बाद क्षेत्र में दहशत व्याप्त है और दो गुटों के बीच तनाव कायम है। टावर लगाने का निमार्ण कार्य बंद हो गया है। घटना गुरूवार को उस समय हुई, जब एक पक्ष के लोग जमीन पर टावर लगाने का कार्य कर रहे थे। तभी दूसर पक्ष ने धावा बोल दिया। गोलीबारी की दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बबन सिंह द्वारा दर्ज कराई गई दरौंदा कांड संख्या 8408 में अखिलेश सिंह, ललन सिंह, अवधेश सिंह, राजेन्द्र सिंह, संतोष सिंह व रांन सिंह को अभियुक्त बनाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक नजर