अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुश से बड़े दुश्मन हैं आडवाणी : अमर सिंह

तारीफ करते हुए बखिया उधेड़ने में माहिर समाजवादी पार्टी नेता अमर सिंह ने शनिवार को वाम पंथी दलों को त्यागी और बलिदानी करार दिया जिन्होंने कांग्रेस का धरातल पर घोर प्रतिद्वंद्वी और उसकी आर्थिक नीतियों का धुर विरोधी होने के बावजूद चार साल तक उसकी सरकार चलाई। परमाणु करार पर उनकी पार्टी के समर्थन को भी उन्होंने यह कहते हुए जायज ठहराया कि कि हमारे लिए बुश से बड़े दुश्मन आडवाणी हैं और अमेरिका से बड़ी दुश्मन भारतीय जनता पार्टी है। लेकिन वाम दलों का जिक्र करते हुए उन्होंने माक्र्सवादी नेता प्रकाश करात और अन्य की खूब तारीफ की। सिंह ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता के लिए जितना त्याग और बलिदान वामपंथी दलों ने किया उतना और कोई नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल से लेकर त्रिपुरा और केरल तक में वामपंथी का मुकाबला कांग्रेस से है। जमीन पर विरोध होने के बावजूद हमारे कामरेड नेताआें ने कांग्रेस की सरकार बनवाई, चार साल तक चलाई और आज भी उनके साथ हैं तो इनसे बड़ा त्यागी और बलिदानी कौन होगा। मैं तो उन्हें सैल्यूट करता हूं। सपा नेता ने कहा कि मुझे यह बात हजम ही नहीं होती कि वाम दल भी भाजपा और बहुजन समाज पार्टी के साथ मिलकर मनमोहन सिंह सरकार को बचाने का काम कर सकते हैं। मैं कामरेड करात को प्रणाम करता हूं, उनका सम्मान करता हूं और उनसे अनुरोध करता हूं कि वह ऐसा कोई काम नहीं करें। मुझे तो उम्मीद है कि वे ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे साम्प्रदायिक ताकतें मजबूत हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुश से बड़े दुश्मन हैं आडवाणी : अमर सिंह