DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जालसाजी कर बैंक से तीन लाख निकाले

ज्यादा धन पाने की चाहत में लोगों ने बैंक में मेहनत की कमाई को डिपॉजिट कराया। हालांकि उस समय उनके पैरों तले जमीन खिसक गई जब भुगतान लेने के समय पता चला कि पहले ही रकम किसी और ने डकार ली है। घटना स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर की आर.ब्लॉक शाखा में हुई। जालसाजों ने बैंककर्मियों की मिलीभगत से करीब तीन लाख रुपये का चपत लगाया है। इस बाबत शाखा प्रबंधक ज्ञानेन्द्र सिंह द्वारा शुक्रवार को सचिवालय थाने में प्राथमिकी (1012008) दर्ज कराये जाने के बाद पुलिस ने अनुसंधान आरंभ कर दिया है।ड्ढr ड्ढr शाखा प्रबंधक ने भी बैंककर्मियों की ही मिलीभगत से यह काला खेल किये जाने की बात पुलिस से कही है।ड्ढr दरअसल दो महीने पूर्व संयुक्त एकाउंट (नंबर- 015से अंजनी कुमार मिश्र अपनी जमा राशि निकालने के लिए बैंक आये थे। 28 मई 1ो उन्होंने 34 हजार 275 रुपये जमा किये थे जिसकी मैचूरिटी 50 हजार 30पये हो गई थी। इसी राशि को लेने जब वे गये तो एकाउंट में रकम नहीं देख कर उनके होश उड़ गये। छानबीन में पता चला कि पहले यह राशि बचत खाता 01100 में चली गई और फिर बारकगंज में रहने वाले अपूर्वा मुखर्जी के खाता 0110020210 में ट्रांसफर हो गया है।ड्ढr ड्ढr जब इस एकाउंट को बैंक अधिकारियों ने चेक किया तो पता चला कि इस नाम का कोई खाता ही उस बैंक में नहीं है। इस बाबत सचिवालय थानाध्यक्ष नरश कुमार शर्मा ने बताया कि इसी तरह अपूर्वा मुखर्जी के खाते में अलग-अलग एकाउंट से 77पये, 11 हजार, 55 हजार, 15277, 56468, 30758 समेत तीन लाख नकद डाल दिये गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जालसाजी कर बैंक से तीन लाख निकाले