अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टेंडर लटकाने वाली कंपनी ने फिर बिड भरा

डालटनगंज-पांकी-लेस्लीगंज सड़क निर्माण के लिए री टेंडर में तीन कंपनियां शामिल हुई हैं। इससे पहले के टेंडर में प्री-क्वालिफाइ करने वाली रामकी इंफ्रास्ट्रक्चर ने फिर से बिड भरा है। इसके अलावा दो अन्य एजेंसियों में जीवीआर कंसट्रक् शन चेन्नई, शेखर प्राइवेट लिमिटेड दिल्ली हैं। रामकी वही एजेंसी है, जिसने निर्धारित तिथि दो मई को तकनीकी तथा वित्तीय बिड नहीं डाला था। प्री-क्वालिफाइ करने वाली एक और एजेंसी आइवीआरसीएल थी। री टेंडर के चक्कर में यह योजना तीन महीने तक लटकी।ड्ढr किन परिस्थितियों में दोनों एजेंसियों ने टेंडर नहीं डाला ,इंजीनियरों ने यह पूछने की जरूरत नहीं समझी। टेंडर को लेकर पूर्व स्पीकर इंदर सिंह नामधारी ने राजद विधायक विदेश सिंह को कठघर में खड़ा कर दिया था।ड्ढr इस मामले में खूब राजनीतिक हंगामा हुआ था। अब रामकी इंफ्रास्ट्रक्चर ने फिर से टेंडर डाला है, तो इंजीनियरिंग सेल कुछ भी पूछने की हिमाकत नहीं कर रहे। इंजीनियर इन चीफ को तो इस टेंडर की अद्यतन स्थिति की जानकारी तक नहीं है।ड्ढr 73 करोड़ की इस योजना का शिलान्यास 11 महीने पहले ही हुआ है। जो हालत है, उसके मुताबिक अभी काम शुरू होने में वक्त लगेगा। जानकार बताते हैं कि अब बरसात के बाद ही काम शुरू हो सकेगा। इधर, हाीरीबाग- बड़कागांव- टंडवा सड़क निर्माण के लिए चौथी बार टेंडर मांगा गया है। 47.5 किमी लंबी इस सड़क के निर्माण में 27 करोड़ की लागत आयेगी। 11 जुलाई को टेंडर भरा जायेगा। पिछले साल की यह योजना छह माहे से टेंडर के लफड़े में फंसी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टेंडर लटकाने वाली कंपनी ने फिर बिड भरा