अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमें स्वतंत्र विदेश नीति के बारे में न बताएं : एंटनी

अमेरिका के साथ परमाणु करार को लेकर वाम दलों की आलोचना करते हुए रक्षा मंत्री एके एंटनी ने कहा है कि वे स्वतंत्र विदेश नीति की ‘नसीहतें’ देना बंद करें। एंटनी ने कहा, ‘‘परमाणु समझौते के मुद्दे पर केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) को कोई खतरा नहीं है। देश की स्वतंत्र विदेश नीति की स्थापना पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस पार्टी ने की थी, और दुनिया के दो ध्रुवों सोवियत संघ और अमेरिका में बंटे होने के बावजूद भारत स्वतंत्र विदेश नीति पर कायम रहा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं कड़े शब्दों में नहीं कहना चाहता हूं, लेकिन वाम दलों को हमें स्वतंत्र विदेश नीति के बारे में बताने की जरूरत नहीं है।’’ एंटनी शरिवार को यहां वरिष्ठ कांग्रेस नेता के. करुणाकरण से मुलाकात करने आए हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘हमें स्वतंत्र विदेश नीति के बारे में न बताएं’