DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘तलाक’ से पहले चार्चाशीट की तैयारी

सपा और कांग्रेस की पोल भी खोलेंगे वामड्ढr कांग्रेस से ‘तलाक’ लेने को तैयार वाम दल अब संप्रग सरकार के खिलाफ ‘चराशीट’ तैयार करने मेंोुट गए हैं। इस चराशीट में लेफ्ट पार्टियाँ उन सार आरोपों का ब्योरा देंगी,ोिनके कारण वह समर्थन वापस लेंगी। इसके अलावा उन वादों का भी उल्लेख होगा,ोिन्हें कांग्रेस ने पूरे नहीं किए।ोाहिर है कि उनमें एटमी करार नहीं करने का वादा भी शामिल होगा।ड्ढr एक वरिष्ठ वाम नेता ने रविवार को यह खुलासा किया कि माकपा, भाकपा, आरएसपी और फारवर्ड ब्लॉक यह ‘चराशीट’ बना रहे हैं। इसमें केन्द्र सरकारोिन मुद्दों पर असफल रही, उन्हें भी शामिल किया गया है ौसे- बढ़ती कीमतें, मुद्रास्फीति, राष्ट्रीय हित के साथ खिलवाड़ और साझा न्यूनतम कार्यक्रम के तहत तोड़े गए वादे। सपा के ‘विश्वासघात’ से आहत वाम दलों ने कांग्रेस और सपा के बीच ‘अपने हितों के लिए’ हुए समझौते व अभियान की पोल भी खोलने की भी तैयारी कर ली है। वाम दलों का राष्ट्रव्यापी आंदोलन 14ोुलाई से शुरू होगा। ंसांप्रदायिक ताकतों को हर हाल में रोकेंगे:सपाड्ढr जौनपुरझ्रलखनऊ। आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सपा ने कांग्रेस से तालमेल के सभी विकल्प अभी खुले रखे हैं। हालाँकि सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने रविवार को कहा कि वह साम्प्रदायिक और जातिवादी ताकतों को केन्द्र की सत्ता में आने से रोकने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि एटमी करार के मुद्दे पर केन्द्र सरकार को किसी भी हालत में गिरने नहीं देंगे। श्री यादव ने कहा कि इस समय कांग्रेस से सम्भावित तालमेल के बारे में वह कुछ नहीं कह सकते। जौनपुर में एक विवाह समारोह में भाग लेने आए सपा मुखिया ने कहा कि इस समय कांग्रेस से तालमेल होना या नहीं होना मुख्य मुद्दा नहीं है। इस समय साम्प्रदायिक और जातिवादी ताकतों को केन्द्र में आने से रोकना है। साथ ही देश की जनता को राजनीतिक अनिश्चितता से बचाने की जरूरत है। श्री यादव ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीो अब्दुल कलाम से बात करने के बादोब संतुष्टि मिली, उसके बाद ही करार का समर्थन करने का फैसला किया। (एोंसी)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘तलाक’ से पहले चार्चाशीट की तैयारी