DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुक्त के खिलाफ प्रदर्शन

सदर प्रखंड की डुमरी पंचायत की विभिन्न योजनाओं में अनियमितता की जांच कथित तौर पर रोकने का मामला तूल पकड़ रहा है। उपमुखिया जानकी कुंवर और बीडीसी मालती देवी के नेतृत्व में ग्रामीणों ने आयुक्त पर जांच पदाधिकारी बदलकर पूर मामले की लीपापोती किए जाने का आरोप लगाकर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के बैठक स्थल के बाहर सड़क पर प्रदर्शन किया । आयुक्त के आदेश को रद्द कर पूर्व के जांच पदाधिकारी से ही जांच होने देने की मांग की। इनमें सत्यनारायण सत्यम, राजेन्द्र राय, संजय गांधी, वामेश्वर राय, महेन्द्र ठाकुर, अशोक पंडित, गफूर मियां,ललन मियां आदि शामिल थी।ड्ढr ड्ढr वहीं दूसरी ओर मुखिया वीरन्द्र साह तथा पंचायत सचिव रामजनम सिंह के समर्थन में भी ग्रामीणों ने मुखिया सम्मान बचाओ समिति के बैनर तले नगरपालिका चौक पर धरना दिया। साथ ही कहा कि विकास विरोधी जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों द्वारा एक सुनियोजित साजिश के तहत मुखिया पर अनावश्यक आरोप लगाकर उनके मान-सम्मान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इससे पंचायत में विकास कार्य प्रभावित हो रहा है। हरनौत में तेज धार से एनएच टूटाड्ढr बिहारशरीफहरनौतअमौर मुजफ्फरपुर (हि.टी.)। बाढ़ के पानी से जिले में अब भी तबाही मच रही है। हरनौत के छतियाना गांव के समीप कलौथा पुल के समीप एनएच 30 ए टूट गया है। जिसके कारण कई नये गांवों में बाढ़ का पानी फैल गया है। वहीं सैकड़ों एकड़ में लगी फसल बर्बाद हो गयी है। दूसरी ओर चंडी के जोगिया गांव के निकट मुहाने नदी का तटबंध टूट जाने से नदी का रूख ही बदल गया है। पूर्णिया जिले के अमौर एवं वैसा प्रखंड में बाढ़ ने दस्तक दे दी है। प्रखंड के निचले हिस्सों में बाढ़ का पानी घुस जाने से दर्जनों गांव प्रभावित हैं। इस बीच पानी में डूबने से एक ही परिवार के दो बच्चियों की मौत हो गयी है। इधर उत्तर बिहार की नदियों के जलस्तर में सोमवार को वृद्धि जारी रही। मधुबनी के मधेपुर प्रखंड के डेढ़ दर्जन गांवों में पानी घुस गया है। जोगिया गांव के संजू राम का पक्का मकान व भैंस नदी की तेज धार में बह गया । ग्रामीणों ने बताया कि मुहाने नदी के तटबंध की मरम्मति की गयी थी। जोगिया गांव के पास मुहाने के तटबंध पर पुल का निर्माण किया जाना था। ठेकेदार द्वारा न तो पुल का निर्माण किया गया और न ही तटबंध की मरम्मति की गयी। जिसके कारण जलस्तर बढ़ने से उक्त स्थल पर तटबंध टूट गया। टूटे तटबंध से बह रहे तेज धार के कारण गांव की ओर कटाव हो रहा है। नदी का रूख बदल जाने से कई अन्य गांवों में भी भारी तबाही मची हुई है। कोरूत, गुंजरचक, रैठा, भीमसेननगर समेत कई गांवों में पानी पूरी तरह फैल गया है।ड्ढr ड्ढr पूर्णिया जिले में पानी में डूबने से एक ही परिवार के दो बालिकाओं की मौत हो गयी है। हालांकि इसकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की गयी है लेकिन पंचायत के मुखिया ने बताया कि मृतक दोनों बालिका सूर्यापुर ग्रामवासी मो. सलाउद्दीन की बेटी है। इन दोनों प्रखंडों को परवान, पनार, कनकई, दास एवं महानंदा नदियों की उफनती जलधारा से प्रभावित कर रही है। प्रखंड के पूर्वी भाग में दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इधर उत्तर बिहार की नदियों के जलस्तर में सोमवार को वृद्धि जारी रही। वाल्मीकिनगर बराज से गंडक में 1.58 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से बगहा के पूअर हाउस, ठकराहां के बहेलिया व धनहा में पीपी तटबंध पर दबाब बढ़ गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आयुक्त के खिलाफ प्रदर्शन