DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र राकांपा ने किया प्रदर्शन

पटना विवि में प्रदर्शन करने वाले छात्रों का गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। कर्मचारियों की हड़ताल के कारण विवि परिसर में अराजक की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सोमवार को छात्र राकांपा के सैकड़ों छात्रों ने विवि परिसर में प्रदर्शन किया। साथ ही सरकार विरोधी नार लगाए। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे छात्र राकांपा के विवि अध्यक्ष मदन कुमार ने कहा कि कर्मचारियों की मांग जायज है। नीतीश सरकार के हठीले रवैये के कारण छात्रों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है।ड्ढr ड्ढr कर्मचारियों की हड़ताल एक महीने से जारी रहने के बावजूद भी सरकार की कानों में जूं तक नहीं रंग रही है। वहीं दूसरी ओर एनएसयूआई के वरीय छात्र नेता दीपक प्रकाश सिंह, छात्र राजद के प्रधान महासचिव अवधेश कुमार लालू व छात्र जदयू के महाससिव मुकेश सिंह ने क हा कि एक तरफ राज्य सरकार सूबे को एजुकेशनल हब बनाने की बात करती है। मगर ऐसा होता दिख नहीं रहा है। छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। उन्होंने कहा कि हड़ताल को समाप्त कराने में विवि प्रशासन की ओर से भी सार्थक पहल नहीं की जा रही है। छात्रों ने कुलपति डा. श्याम लाल को रबर स्टांप की संज्ञा दे दी है। छात्रों का कहना था कि भ्रष्ट अधिकारियों के कारण ही यह नौबत आयी है। अधिकारियों और कर्मचारियों की लड़ाई में पिसना हम छात्रों को पड़ रहा है। हड़ताल की वजह से सैकड़ों छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है। विवि कर्मियों की हड़ताल जारीड्ढr पटना (हि.प्र.)। कॉलेज व विवि कर्मचारियों की हड़ताल जारी रहने स्थिति और गंभीर हो रही है। पटना विवि कर्मचारी संघ 31 दिनों से हड़ताल पर है जबकि बिहार विवि कर्मचारी महासंघ 14 दिनों से हड़ताल पर हैं। वहीं बिहार राज्य विवि एवं महाविद्यालय कर्मचारी महासंघ सात दिनों से हड़ताल पर है। विवि व कॉलेज कर्मचारियों की हड़ताल से पूर उच्च शिक्षा में लकवा मार गया है। पटना विवि कर्मचारी संघ के महासचिव विनोद मिश्र का कहना है कि छह जून से जारी हड़ताल को समाप्त कराने के लिए किसी प्रकार का कदम न तो विवि प्रशासन और न ही सरकार द्वारा उठाया जा सका है। वहीं बिहार विवि कर्मचारी संघ के महासचिव मुकेश कुमार व उपाध्यक्ष उमेश प्रसाद का कहना है कि कर्मचारियों की हड़ताल से पटना विवि समेत सूबे के नौ विवि में स्थिति दयनीय हो गयी है। साथ ही पटना विवि कॉलेज कर्मचारी संघ की अध्यक्ष उषा साहनी व उपाध्यक्ष ए. मन्नान ने कहा कि मांगों की पूर्ति नहीं की जाती है तो संघर्ष को और तेज किया जाएगा। नेताओं ने पटना वीमेंस कॉलेज की प्राचार्य पर आरोप लगाया कि उनके तानाशाही रवैये के विरोध में मंगलवार को वहां पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। हड़ताल के कारण बाधित शैक्षणिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए ह्यूमन राइट्स एसोसिएशन बिहार के महासचिव नवल किशोर प्रसाद ने कहा कि सभी पक्षों को मिलकर समस्या का समाधान करना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छात्र राकांपा ने किया प्रदर्शन