अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा ने पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई

अमेरिका के साथ असैन्य परमाणु करार पर वामपंथी दलों के समर्थन वापसी की स्थिति में संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान सपा के 3सांसदों पर भरोसा कर रही कांग्रेस के लिए संकट की स्थिति होगी। बसपा सूत्रों ने सोमवार की शाम सपा के सांसदों का जिक्र करते हुए कहा कि वे खुद ब खुद हमारे पास आ रहे हैं। हमारी आेर से किसी तरह की कोई कोशिश नहीं की जा रही है। सपा महासचिव अमर सिंह ने भी स्पष्ट रूप से कहा कि यदि वाम दल सरकार से समर्थन वापस लेते हैं तो उनकी पार्टी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के पक्ष में वोट करेगी। बसपा सूत्रों ने कहा कि परमाणु समझौता नहीं बल्कि सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने जिस तरीके से काम किया है उससे उनके सांसद हमारे पास आए हैं। लोकसभा में शक्ित परीक्षण के दौरान कांग्रेस को 272 का जादुई आंकड़ा चाहिए और यदि बसपा का दावा सच साबित हुआ तो कांग्रेस संकट में पड़ सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सपा के सांसदों को लुभा रही है बसपा