DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘संसद में बहुमत के बाद आईएईए में जाएंगे’

वाम दलों द्वारा समर्थन वापसी के बाद बहुमत साबित करने के लिए सरकार संसद का सत्र बुलाएगी। विदेश मंत्री प्रणब मुखर्जी ने साफ कहा कि संसद में बहुमत साबित करने के बाद ही सरकार परमाणु करार को लेकर आईएईए में जाएगी। गौरतलब है कि अमेरिका के साथ परमाणु करार को आगे बढ़ाने के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बयान के बाद वाम दलों ने मंगलवार को समर्थन वापसी की घोषणा कर दी। वाम दल कल यानि बुधवार को राष्ट्रपति से मिलकर समर्थन वापसी का पत्र सौंपेगें। इस बीच प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि मनमोहन सरकार अल्पमत में आ गई है, और उसे संसद में बहुमत साबित करना चाहिए। पत्रकारों को संबोधित करते विदेश मंत्री प्रणब मुखर्जी ने कहा कि वाम दलों को पूरा करार दिखाने की मांग को पूरा नहीं किया जा सकता। यह कूटनीतिक मसला है जिसे हम सार्वजनिक नहीं कर सकते। गौरतलब है कि सोमवार को जापान जाते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने साफ कर दिया था कि भारत करार को लेकर आईएईए में जाएगा। इसके बाद से ही यह लगभग तय हो गया था कि वाम दल सरकार से समर्थन वापसी की घोषणा कर देंगे। हालांकि पहले माना जा रहा था कि वाम दल मनमोहन के आने तक इंतजार करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘संसद में बहुमत के बाद आईएईए में जाएंगे’