DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करार हिट करने के नुस्खे

यह एकता कपूर का सीरियल नहीं है। हालांकि इसका नामकरण भी क से बखूबी किया जा सकता है। मसलन इसका नाम हो सकता है-कब होगा करार या फिर करार क्यों नहीं होता या करार के लिए क्यों बेकरार है सरकार या फिर यह भी हो सकता है-करार पहले, सरकार बाद में। और भी हो सकते हैं। यादा कैची। पर यह एकता कपूर का सीरियल नहीं है। हालांकि यह पिछले कई महीनों से बल्कि साल भर से यादा चल रहा है। डेली सोप के कोई पांच सौ एपीसोड तो बन ही जाते, पर अभी तक इसमें इकरार और इनकार की कशमकश ही चल रही थी। अलबत्ता शुरू में कुछ सस्पेंस जरूर था। लोग सोचते थे कि सरकार अब गई कि अब गई। पर बाद में यह लद्दड़ हो गया। टीआरपी रेटिंग के हिसाब से भूत-प्रेत और नाग-नागिनें इससे बहुत आगे निकल गए। यहां तक कि बोर वेल की कहानियां भी। एकता कपूर को बड़ा आश्चर्य हुआ। बोली-क से अगर नाम है तो सीरियल तो चलना चाहिए। मेरे तो सारे सीरियल चल जाते हैं। सरकार वालों ने कहा-पर जी, यह तो बस घिसट रहा है। मजा नहीं आ रहा। उन्होंने सलाह दी-इसमें थोड़ी जिद मिलाआे। सरकारवालों ने कहा-वो तो है जी। इधर प्रधानमंत्री की है, उधर वामपंथी हैं। एकता कपूर को बड़ा आश्चर्य हुआ-और फिर भी दोनों साथ-साथ हैं। अलग नहीं हुए। मेरी मानो तो अलग हो जाआे। सरकारवालों ने कहा-पर जी, सरकार टूट जाएगी। एकता कपूर ने लताड़ा-जैसे घर टूटने से मेरे सीरियल नहीं टूटते, वैसे ही तुम्हारी सरकार भी नहीं टूटेगी। कुछ लफड़ा कर लो। सरकारवालों ने कहा-जी पहले ही जान को बहुत लफड़े हैं, करार है, महंगाई है और क्या करें? एकता कपूर ने कहा- कुछ बाहर चर-वर चलाआे। सरकारवालों ने कहा-जी, चर तो चल सकता है। मुलायमसिंह-अमरसिंह के साथ। पर हमारी सरकार उन्होंने पहले भी नहीं बनने दी थी। एकता कपूर ने कहा- तो क्या हुआ? हो सकता इस बार बचा लें। सरकारवालों ने कहा- वे दस जनपथ से बहुत नाराज हैं। एक बार बड़े बेआबरू होकर उस कूचे से निकले थे। एकता कपूर ने कहा- तो क्या हुआ। आबरू-वाबरू कुछ नहीं होती। खाने से भगाया था तो चाय पर बुला लो। सरकार वालों की शंका बनी हुई थी- पर वे वामपंथियों के भी दोस्त हैं। एकता कपूर ने कहा- यह तो और अच्छा है। दोस्ती तो टूट सकती है। अब ले लो तलाक। और इसमें साजिश भी डाल दो। इसके बाद तो एक-एक करके नुस्खे आने लगे- हर तरह की साजिशें, पुराने यारों-दोस्तों से शिकायतें, लिव-इन रिलेशनशिप सब। टीआरपी रेटिंग बढ़ने लगी। अगले छ: महीने तक का हिसाब पा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करार हिट करने के नुस्खे