DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काबुल हमले पर भिड़े पाक व अफगानिस्तान

ाबुल में भारतीय दूतावास पर हमले को लेकर पाक व अफगानिस्तान में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। राष्ट्रपति हामिद कराई के प्रवक्ता हुमायूं हमिदजादा ने मंगलवार को कहा कि हमें पक्का विश्वास है इसके पीछे कोई खुफिया एजेंसी है। बिना विदेशी मदद के आतंकी ऐसा हमला नहीं कर पाते। उधर, तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया है। प्रवक्ता ने कहा कि इस हमले से जुड़ी सभी बातें इस ओर इशारा करती हैं कि इसके पीछे उस खुफिया एजेंसी का हाथ है, जो अफगानिस्तान में अरसे से ऐसे हमले करवाती रही है। हालांकि मैं इसका नाम नहीं लेना चाहता।। उनका इशारा पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई की ओर था। इस्लामाबाद से मिली खबर के मुताबिक पाक के प्रधानमंत्री यूसुफ राा गिलानी ने कहा कि पाक आखिरकार क्यूं अफगानिस्तान को अस्थिर करना चाहेगा? स्थिर अफगानिस्तान हमारे हित में है। पीपीपी नेता आसिफ अली जरदारी ने हमले को कायराना बताते हुए कहा कि यह शान्ति के दुश्मनों का काम है। इस बीच, घायलों में एक व्यक्ित के दम तोड़ देने से मृतक संख्या 42 हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: काबुल हमले पर भिड़े पाक व अफगानिस्तान