DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा बचाएगी मनमोहन सरकार : मुलायम

समाजवादी पार्टी ने संसदीय दल की बैठक के बाद ऐलान किया कि वह परमाणु करार पर संसद में सरकार के पक्ष में वोट देगी। पार्टी के 3सांसद हैं जिनमें से दो पार्टी व्हिप के खिलाफ जाएंगे। किन्तु एक निर्दलीय के साथ जुड़ने के बाद महासचिव अमर सिंह का दावा है कि हमारे 38 सांसदों का सरकार के पक्ष में वोट पड़ना तय है। करार से खफा कुछ सांसदों के बीएसपी जाने के अटकलों पर सपा ने भी आज दावा कर डाला कि बसपा के 7 सांसद उनके साथ हैं। उधर, पार्टी के सांसद जयप्रकाश ने लखनऊ में दावा किया पार्टी ने इस मामले में सांसदों को भरोसे में नहीं लिया और मतदान में एक दर्जन से यादा सांसद अनुपस्थित रह सकते हैं। पार्टी बुधवार को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से मुलाकात कर समर्थन का नया पत्र उन्हें सौंपेगी। संसदीय दल की बैठक में मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों को सबक सिखाने के लिए जरूरी है कि वे राष्ट्रहित में करार का समर्थन करें। अमर सिंह ने बैठक में कहा कि लेफ्ट भरोसे के काबिल नहीं। बैठक में पारित प्रस्ताव में कहा गया है कि चूंकि परमाणु करार को देश के प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों, रक्षा विशेषज्ञों एवं राजनीतिक चिंतकों ने देशहित में बताया है। इसलिए पार्टी ने समर्थन का निर्णय किया है। इसके विरोध के जरिये पार्टी सांप्रदायिक ताकतों के देश तोड़ने के मंसूबों को सफल नहीं होने देना चाहती और धर्म निरपेक्ष ताकतों को एकजुट करना चाहती है। अमर सिंह ने कहा कि पार्टी सरकार को बचाने के लिए सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी करेगी। बैठक में हालांकि लोकसभा और रायसभा के 10 सांसद नहीं थे। लेकिन दो सांसदों जयप्रकाश और मुनव्वर हसन को छोड़कर बाकी सब पार्टी के साथ खड़े हैं। इसके अलावा एक निर्दलीय सांसद बालेश्वर यादव सपा के साथ आ गए हैं। बेनीप्रसाद वर्मा और राजबब्बर हालाकि पार्टी से निलंबित चल रहे हैं लेकिन व्हिप का पालन उन्हें करना पड़ेगा। वैसे भी दोनों कांग्रेस के टच में हैं। अस्वस्थ होने के कारण रेवती रमण और मोहन सिंह नहीं आ पाए। कीर्ति वर्धन परिवार में मातम होने की वजह से नहीं पहुंचे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सपा बचाएगी मनमोहन सरकार : मुलायम