DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जातपात से खत्म होती एकचाुटता : मीरा कुमार

आजादी के बाद आज हमार देश का लगातार जो पतन हो रहा है उसका मुख्य कारण जात-पात है। जात-पात को लेकर हमारा समाज आक्रांत और कुछ हद तक अस्वस्थ्य है। इससे एकाुटता समाप्त होती है और जब एकाुटता समाप्त होती है तो इसका फायदा पड़ोसी देश उठाते हैं। इतिहास गवाह है जब-ाब हम कमजोर हुए हैं तब-तब हम पर हमले हुए हैं। उक्त बातें केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मीरा कुमार ने मंगलवार को बाबू जगजीवन राम के 22वीं पुण्य-तिथि समारोह में कहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने की। इस मौके पर पर्यटन मंत्री राम प्रवेश राय, संजीव कुमार टोनी, प्रो. कौशलेन्द्र कुमार सिंह, अनिल प्रकाश एवं ओ.पी. मौर्या उपस्थित थे। इस मौके पर जगजीवन राम के कृतित्व को रेखांकित करने वाली द्विभाषी पुस्तक रिमेमबरिंग बाबूजी : हंड्रेड इयर्स ऑफ ए विजीनरी किताब का लोकार्पण किया गया।ड्ढr ड्ढr मीरा कुमार ने कहा कि आधुनिक भारत के लिए यह जरूरी है कि देश के हर क्षेत्र का विकास हो, परंतु इसका यह मतलब नहीं कि देश के विकास में कृषि पर से ध्यान बिलकुल हम हटा दें। आज खेती होने वाली जमीनों पर उद्योग लगाए जा रहे हैं। इससे पैदावार में काफी कमी आएगी। विधानसभा अध्यक्ष चौधरी ने कहा कि जब तक बाबूजी के विचारों को स्थापित नहीं करंगे तब तक देश एवं राज्य का विकास असंभव है। हालांकि समाज में परिवर्तन लाना आसान नहीं है, फिर भी हमें हार नहीं मानना चाहिए। बाबू जी के सपनों को साकार करने के लिए हम सबको मिलकर आगे आना होगा। मंत्री श्री राय ने कहा कि बाबू जी के आदर्शो पर चलकर ही राज्य का विकास संभव है। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए हम सभी को जात-पात से ऊपर उठना होगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जातपात से खत्म होती एकचाुटता : मीरा कुमार