DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मनमोहन सरकार के जाने की बारी : शाहनवाज

भाजपा ने ‘राम’ के बाद ‘शिव’ को भी राजनीति के अखाड़े में उतार दिया है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि अमरनाथ श्राइन बोर्ड की जमीन वापस लेकर संप्रग सरकार ने भगवान शिव को कुपित कर दिया है। जिस तरह उसने ‘शिवजी’ की जमीन छीनी है उसी तरह उसकी केन्द्र की सरकार भी छिन जाएगी। गुलाम सरकार के बाद मनमोहन सरकार के जाने की बारी है। श्री हुसैन ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वाम दलों की समर्थन वापसी से संप्रग सरकार अल्पमत में है और उसका बचना नामुमकिन है। हालांकि किसी भी वैकल्पिक व्यवस्था की जगह उनकी पार्टी चुनाव में जाना पसंद करगी। भाजपा जोड़-तोड़ की राजनीति में यकीन नहीं करती। यदि केन्द्र सरकार गिरती है तो नया जनादेश लिया जाना चाहिए।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि अलबत्ता केन्द्र सरकार की इस हालत से सबसे अधिक घबराहट रल मंत्री लालू प्रसाद को है। वह भाजपा को ‘व्याकुल भारत’ कहते थे लेकिन सत्ता हाथ से खिसकती देख वह खुद व्याकुल हो गए हैं। वह टीवी पर बोल रहे थे कि पावर के लिए वह कोई भी समझौता कर सकते हैं। उनका तात्पर्य तो बिजली से था मगर सत्ता से चिपके रहने की उनकी आदत के कारण उनको लगा जैसे कह रहे हों कि ‘पावर’ यानी सत्ता के लिए वह कुछ भी कर सकते हैं। बिहार को लालटेन युग में ला देने वाले राजद को पता भी नहीं है कि बिजली बनती कैसे है। श्री हुसैन ने कहा कि केन्द्र सरकार पहले से जानती थी कि वाम दलों द्वारा समर्थन वापसी की नौबत आ सकती है इसीलिए जानबूझकर उसने जुलाई में संसद का मानसून सत्र नहीं रखा। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विनोद नारायण झा, मंत्री सूरजनन्दन मेहता, सहकारिता मंच के अध्यक्ष सुधीर शर्मा, राष्ट्रीय मीडिया सह प्रभारी संजय मयूख और विधायक प्रदीप सिंह भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब मनमोहन सरकार के जाने की बारी : शाहनवाज