अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूची में नाम न देख आक्रोशित हैं लोग

हो-हंगामे के बीच जिले में राशन-किरासन कूपन वितरण का कार्य प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में कराया जा रहा है। राशन-किरासन कूपन वितरण को लेकर वैसे परिवार मायूस हैं जिनका नाम न तो बीपीएल में है और न ही एपीएल में। राशन-किरासन कूपन को लेकर अभी तक जिन पंचायतों में हंगामा हुआ है वहां के अधिसंख्य लोगों का नाम पारिवारिक सर्वेक्षण सूची से गायब है।ड्ढr ड्ढr हंगामा इस बात को भी लेकर हो रहा है कि गरीब परिवारों को एपीएल का कूपन दिया जा रहा है। बेलागंज प्रखंड की कोरमत्थू पंचायत में उक्त बातों को लेकर ही कूपन वितरण शिविर में हंगामा हुआ और प्रशासन को वहां वितरण का कार्य रोकना पड़ा। इसी तरह बोधगया प्रखंड की कुरमावां पंचायत में हंगामा हुआ। यहां के हंगामे को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठियां चटकानी पड़ीं। बाराचट्टी प्रखंड की झाझ पंचायत के लोगों ने तो कूपन वितरण में अनियमितता की शिकायत को लेकर प्रखंड कार्यालय पर जबर्दस्त हंगामा किया। बेलागंज की खनेटा पंचायत के टिकुली गांव में भी हंगामा हुआ। लोगों की यह शिकायत है कि गरीबों को लालकार्ड और अमीर परिवारों को पीला कार्ड दिया जा रहा है, जो गलत है। जिन परिवारों का नाम बीपीएल-एपीएल से गायब है, वो लोग भी अपना नाम जोड़ने को लेकर कूपन वितरण केन्द्रों पर हंगामा कर रहे हैं। जिला आपूर्ति पदाधिकारी कौशलेन्द्र पाठक ने कूपन वितरण और हो-हंगामे के बारे में बताया कि जिले के एक-दो प्रखंडों में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर कुछ लोगों ने हो-हंगामा किया था। हंगामे के भय से कूपन वितरण का काम रुकाड्ढr सुजीत कुमार मिश्र मुंगेर कई ऐसी पंचायतें हैं जहां हंगामे के भय से कूपन का वितरण नहीं किया जा रहा है। बीपीएल सूची में पिछले साल बड़े पैमाने पर अनियमितता उाागर होने पर जगह-ागह हंगामा हुआ। विस्फोटक स्थिति को देख दस सदस्यीय दल का गठन किया गया। सव्रेक्षण सूची को ग्रामसभा में पेश किया गया तो सभी संतुष्ट थे, लेकिन सूची प्रकाशित होते ही एक बार फिर अनियमितता उाागर होने लगी है। कहीं गरीबों के नाम बीपीएल सूची में नहीं हैं तो कई ऐसे परिवार हैं जिनके नाम न तो बीपीएल में हैं और न ही एपीएल में। बीपीएल सूची में नाम नहीं रहने से लोगों में आक्रोश पनपता जा रहा है। लोगों की शिकायत है कि आपत्ति दर्ज कराने के लिए काफी कम समय दिया गया। राशन व किरासन कूपन का वितरण जिले में दो दिन पहले शुरू हुआ है तथा दो-तीन गांवों में ही अब तक वितरण हो सका है। बताया जा रहा है कि वितरण में तेजी आने पर बीपीएल के लाभ से वंचित लोग पिछले साल की तरह ही हंगामा करंगे। अन्त्योदय के तहत 30,563, विशेष अन्त्योदय योजना के तहत 11,720 लाभुकों के चयन के साथ ही बीपीएल व एपीएल (किरासन कूपन) के लिए 2 लाख 28 हाार 437 लाभुकों का चयन किया गया है जबकि लालकार्डधारी हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूची में नाम न देख आक्रोशित हैं लोग