DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एयर इंडिया के विमान विस्फोट के दोषी को जमानत

नाडा की एक अदालत ने 1में एयर इंडिया के विमान में बम विस्फोट के दोषी एवं अदालत में झूठ बोलने के आरोपी को जमानत पर रिहा कर दिया है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक ब्रिटिश कोलंबिया कोर्ट ऑफ अपील ने निचली अदालत के उस फैसले को पलटते हुए इंद्रजीत सिंह रेयात की जमानत अर्जी मंजूर कर ली जिसमें दोषी को जेल में रखने के आदेश दिए गए थे। वेनकुवर में अदालत के अधिकारी ने अपीलीय अदालत के फैसले के विवरण के प्रकाशन पर रोक होने का हवाला देते हुए आदेश की प्रति प्रकाशित करने से इंकार कर दिया। जून 1में अटलांटिक महासागर के ऊपर एयर इंडिया की उड़ान संख्या 182 को उड़ाने के लिए जहाज में बम रखने में सहयोग करने के दोषी पाए गए रेयात ने अपना जुर्म भी कबूला था। नागरिक विमानन के इतिहास में सबसे खतरनाक इस हादसे में 32लोग मारे गए थे। रेयात को एयर इंडिया के अन्य विमान में बम रखने का भी दोषी पाया गया था जिसे प्रशांत महासागर के ऊपर विस्फोट कर उड़ाने की योजना थी लेकिन यह बम तय समय से पहले ही फट गया जिसमें टोक्यो हवाई अड्डा के दो कर्मचारी मारे गए। रेयात पर इस मामले दो अन्य आरोपियों की सुनवाई के दौरान अदालत में झूठी गवाही देने का भी आरोप है। उसने कहा था कि इस हमले में शामिल अन्य लोगों के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। बाद में इस मामले में आरोपी दो अन्य लोगों को दोषी नहीं पाया गया। दो दशकों से जेल में बंद रेयात ने अपने दोनों अपराधों की सजा काट ली है। लेकिन अधिकारी अदालत में झूठ बोलने के आरोप में मामले की सुनवाई के लिए उसे जेल में रखना चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एयर इंडिया विस्फोट के दोषी को जमानत