अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहुमत साबित करने के बाद ही करार : पीएम

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुरुवार शाम राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से मुलाकात कर कहा कि उनकी सरकार को अब भी लोकसभा में बहुमत हासिल है, जिसे वह जल्द से जल्द सदन में साबित कर देंगे। जापान में जी-आठ बैठक से लौटे डा. सिंह ने यहां राष्ट्रपति भवन में श्रीमती पाटिल के साथ अपनी विदेश यात्रा से लेकर वाम दलों के सरकार से समर्थन वापस लेने से उत्पन्न राजनीतिक हालात पर चर्चा की। लोकसभा के विशेष सत्र की तिथि के बारे में शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन को सूचित कर दिया जाएगा। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, विश्वासमत प्रस्ताव अगले सप्ताह पेश किया जा सकता है। तिथि का फैसला शुक्रवार की सुबह यूपीए और शाम को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद ही किया जाएगा। सत्तापक्ष के सभी सांसदों को 11 से 22 जुलाई तक दिल्ली में ही रहने को कहा गया है। प्रधानमंत्री के राष्ट्रपति पाटिल से मुलाकात के पहले कांग्रेस के कोर ग्रुप की बैठक हुई, जिसमें प्रधानमंत्री के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रणव मुखर्जी, ए. के. एंटनी, शिवराज पाटिल, अजरुन सिंह और अहमद पटेल शामिल हुए। इस बैठक में यूपीए की एकजुटता, समाजवादी पार्टी के समर्थन तथा अन्य संभावित क्षेत्रों से मिलने वाले समर्थन की संभावनाओं पर भी विचार किया गया। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार आलाकमान आश्वस्त है कि परमाणु करार पर सरकार को बहुमत हासिल हो जाएगा। इस बीच, सपा के बागी सांसदों राज बब्बर और बोनी प्रसाद वर्मा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलकर सरकार को समर्थन का वादा किया है। वहीं पार्टी के मिजो नेता व पूर्व मुख्यमंत्री ललथनहवला ने भी सोनिया गांधी को मिजो नेशनल फ्रंट के एकमात्र सांसद के समर्थन का भरोसा दिलाया। आंध्र के पार्टी नेताओं ने गांधी से मिलकर टीआरएस सदस्यों के समर्थन के लिए उनकी शर्तो पर विचार किया, वहीं पंजाब में पार्टी नेताओं को पंजाबियत के नाम पर अकालियों का समर्थन जुटाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बहुमत साबित करने के बाद ही करार : पीएम