अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंख बंद कर केंद्र को समर्थन के मूड में नहीं झामुमो

ेंद्र की यूपीए सरकार संकट में है। सरकार बचाने की मुहिम में जुटी कांग्रेस का छोटे दलों पर विशेष नजर है। छोटे दल भी इस सुनहर मौके को अपने लिए मुफीद समझ रहे हैं। झामुमो भी इस मौके को गंवाना नहीं चाहता। शशिनाथ झा हत्याकांड मामले में अदालत द्वारा निर्दोष करार दिये जाने के बाद झामुमो को उम्मीद थी कि शिबू सोरन केंद्र में मंत्री बनाये जायेंगे, पर मंत्रिमंडल विस्तार में शिबू को जगह नहीं मिली। इस बात से झामुमो में तभी से नाराजगी है।ड्ढr पार्टी से शिबू सोरन के अलावा हेमलाल मुमरू, टेकलाल महतो, सुमन महतो और सुदाम मार्डी पार्टी के सांसद हैं।ड्ढr झामुमो सांसद हेमलाल मुमरू और उड़ीसा से पार्टी के सांसद सुदाम मार्डी का बयान कि डॉ मनमोहन सिंह सरकार को समर्थन देने से पहले पार्टी सांसदों की बैठक होगी, केंद्र के लिए चिंता की बात हो सकती है।ड्ढr सांसदों की बात से स्पष्ट है कि वह आंख मूंद कर यूपीए का समर्थन करनेवाले नहीं हैं। यूपीए सरकार के गठन के समय बने फामरुले के अनुसार झामुमो के दो सांसदों को केंद्र में मंत्री बनाया जाना था।ड्ढr बैठक में होगा फैसला : शिबूड्ढr झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरन ने कहा है कि पार्टी सांसदों की बैठक में ही केंद्र की यूपीए सरकार को समर्थन देने के मुद्दे पर अंतिम फैसला होगा। उन्होंने कहा कि यह सही है कि झामुमो यूपीए का अंग है लेकिन नयी परिस्थितियों में दल के सांसदों की सहमति से ही फैसला लिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आंख बंद कर केंद्र को समर्थन के मूड में नहीं झामुमो