DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोंटेक ज्यादा से ज्यादा मुक्त व्यापार समझौतों के पक्ष में

मोंटेक ज्यादा से ज्यादा मुक्त व्यापार समझौतों के पक्ष में

योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह आहलूवालिया ने मुक्त व्यापार समझौतों का पक्ष लेते हुए कहा है कि भारत द्वारा इस तरह के और समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की स्पष्ट तौर पर जरूरत है।

भारत ने जापान, कोरिया, आसियान देशों, श्रीलंका, नेपाल सहित लगभग 20 देशों के साथ मुक्त व्यापार समझौते किए हैं। इसके अलावा वह ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड तथा यूरोपीय संघ के साथ व्यापार समझौतों पर विचार-विमर्श कर रहा है।

यह पूछे जाने पर कि एफटीए से राजस्व पर प्रतिकूल असर पड़ने के मद्देनजर क्या भारत को इस तरह के और समझौतों से बचना चाहिए, उन्होंने कहा कि हमें पूरी स्पष्टता के साथ एफटीए करने चाहिये। एफटीए में देशों के बीच वस्तुओं एवं सेवाओं में कम से कम शुल्क बाधाओं के साथ मुक्त व्यापार की अनुमति होती है।

एफटीए का मुद्दा यहां प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई व्यापार और आर्थिक संबंध समिति की बैठक में चर्चा में आया। बैठक में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा, वित्त मंत्री पी चिदंबरम, राष्ट्रीय विनिर्माण प्रतिस्पर्धात्मकता परिषद के चेयरमैन वी कष्णमूर्ति और मोंटेक सिंह अहलूवालिया उपस्थित थे।

घरेलू तथा आयातित कोयले की अलग-अलग कीमत संबंधी सवाल पर आहलूवालिया ने कहा कि हमें उसके लिए कोई रास्ता निकालना होगा और अभी इस पर सहमति नहीं बनी है, लेकिन मेरी राय में यह करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोंटेक ज्यादा से ज्यादा मुक्त व्यापार समझौतों के पक्ष में