DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फाइलें देख रहा पूर्व मंत्री का पीए

ट्रांसफर के बाद भी रिनपास के कुछ डॉक्टर यहां जमे हुए हैं। 30 जून को विभाग की ओर से रिनपास के डॉ एके नाग, डॉ बलराम सिंह का ट्रांसफर किया गया था। अधिसूचना में डॉक्टरों को शीघ्र नवपदस्थापित स्थान पर योगदान देने का निर्देश दिया गया था। साथ ही कहा गया था कि 10 जुलाई तक योगदान नहीं देनेवाले डॉक्टर स्वत: विरमित समझे जायेंगे। इधर पूर्व मंत्री के पीए रह चुके कामेश्वर पांडे संस्थान की फाइलें देख रहे हैं। सूचना है कि वह निदेशक कार्यालय में बैठकर अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश भी दे रहे हैं। कई कर्मचारियों ने इसपर आपत्ति जतायी है।ड्ढr डॉक्टरों का स्टे के लिए लिखा है: निदेशकड्ढr पूर मामले में रिनपास निदेशक डॉ अशोक प्रसाद ने कहा है कि डॉक्टरों का ट्रांसफर ऑर्डर स्टे करने के लिए विभाग को लिखा गया है। डॉक्टरों के चले जाने से संस्थान का कार्य प्रभावित होगा। ऐसे में सरकार से इन डॉक्टरों को यही रहने देने के लिए लिखा गया है। कामेश्वर पांडे द्वारा फाइलें देखे जाने पर डॉ प्रसाद ने कहा कि संस्थान में वर्क लोड के कारण कंसल्टेंट नियुक्त करने के लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजा गया है। सरकार के आदेश की प्रत्याशा में श्री पांडे से काम लिया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फाइलें देख रहा पूर्व मंत्री का पीए