DA Image
19 जनवरी, 2020|10:47|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्यूक्िलयर एनर्जी के क्षेत्र में कदम रखेगा एचइसी

एचइसी अब न्यूक्िलयर एनर्जी के क्षेत्र में कदम रखेगा। एचइसी इसके लिए भारत हैवी इलेक्िट्रकल्स लि (भेल) के साथ ज्वाइंट वेंचर में काम करगा। दोनों सरकारी कंपनियों के बीच जल्द ही एमओयू होगा। प्रधानमंत्री कार्यालय ने इसके लिए हरी झंडी दी है। भेल के अधिकारियों ने हाल ही में एचइसी के प्लांटों का निरीक्षण कर संतोष जाहिर किया है।ड्ढr भारत-अमेरिका न्यूक्िलयर डील होने के बाद देश में कई न्यूक्िलयर पावर प्लांट लगेंगे। पावर प्लांट के लिए उपकरणों का निर्माण मुख्यत: भेल ही करता है। लेकिन काम इतना ज्यादा होगा कि भेल के लिए इसे अकेले कर पाना संभव नहीं होगा। इसलिए वह एचइसी के साथ मिल कर काम करगा। एचइसी के सीएमडी जीके पिल्लई के अनुसार कंपनी इस तरह के काम के लिए तैयार है।ड्ढr एचइसी और भेल का साथ काम करना आसान होगा, क्योंकि दोनों कंपनियां भारी उद्योग मंत्रालय के अधीन हैं। एचइसी के पास न्यूक्िलयर एनर्जी क्षेत्र में काम करने का अनुभव भी है। कुछ विदेशी कंपनियां भी इस तरह का काम एचइसी से कराने की इच्छुक हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: न्यूक्िलयर एनर्जी के क्षेत्र में कदम रखेगा एचइसी