DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्रिकेट के लिए सही नहीं है इतने बड़े लक्ष्य: धौनी

क्रिकेट के लिए सही नहीं है इतने बड़े लक्ष्य: धौनी

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने सात मैचों की मौजूदा क्रिकेट सीरीज में दूसरी बार ऑस्ट्रेलिया के 350 रन से अधिक के लक्ष्य को हासिल करने पर खुशी जताई लेकिन साथ ही कहा कि इतने बड़े लक्ष्य को हासिल कर लेना लंबे समय में क्रिकेट के लिए सही नहीं है।

ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान जार्ज बैली (156) और शेन वाटसन (102) के तूफानी शतकों की मदद से छह विकेट पर 350 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था। भारत ने इसके जवाब में विराट कोहली (66 गेंद में एक छक्के और 18 चौकों की मदद से नाबाद 115) और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (100) के शतकों की मदद से तीन गेंद शेष रहते चार विकेट पर 351 रन बनाकर जीत दर्ज की।

भारत ने इससे पहले जयपुर में दूसरे वनडे में 360 रन के लक्ष्य को 44वें ओवर में ही हासिल कर लिया था। धौनी ने मैच के बाद कहा कि नियमों में बदलाव के बाद गेंदबाजों के खिलाफ अधिक रन बन रहे हैं। एक अतिरिक्त खिलाड़ी अंदर होता है जिससे बल्लेबाजों के लिए रन बनाना आसान हो जाता है। ऐसा लगता है 350 रन पहले के 280, 290 या 300 रन की तरह हो गए हैं। तेज गेंदबाज भी थर्ड मैन और फाइन लेग को अंदर रखकर गेंदबाजी करने लगे हैं।

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि खेल किस ओर जा रहा है। इससे मनोरंजन हो रहा है लेकिन अगर हम इस तरह लक्ष्य को हासिल करते रहे तो लंबे समय में यह खेल की सेहत के लिए अच्छा नहीं होगा। हमें आज सात घंटे में सिर्फ चौके और छक्के ही देखने को मिले।

लक्ष्य का पीछा करते हुए रणनीति के बारे में पूछने पर धौनी ने कहा कि हमने पहले 30 ओवर के अंतराल को पहले लिया और इसके लिए रणनीति बनाई। हमने योजना बनाई कि अगर हम पहले 30 ओवर में 180 रन के आसपास बना लेते हैं तो बाद के 20 ओवर में बाकी रन बना सकते हैं क्योंकि इसमें पावर प्ले के ओवर भी होंगे।

धौनी ने इस जीत का श्रेय कोहली के अलावा धवन और रोहित शर्मा (79) की सलामी जोड़ी को भी दिया जिन्होंने पहले विकेट के लिए 178 रन की रिकार्ड साझेदारी करके भारत को शानदार शुरुआत दिलाई। भारतीय कप्तान ने कहा कि मुझे लगता है कि शिखर और रोहित ने शानदार बल्लेबाजी की। शिखर ने शतक बनाया लेकिन रोहित को परेशानी हो रही थी और वह गैप नहीं ढूंढ़ पा रहा था लेकिन वह दबाव को झेलने में सफल रहा और उसने अच्छी पारी खेली।
    
उन्होंने कहा कि विराट कोहली ने एक बार फिर शानदार पारी खेली। गेंद पुरानी हो गई थी लेकिन आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज काफी अच्छे हैं और उसने उन पर पलटवार किया। उसने बल्लेबाजी को आसान कर दिया। उसने जिस तरह से बाकी बल्लेबाजों से दबाव हटाया वह शानदार था।
     
सीरीज का सातवां और निर्णायक मैच दो नवंबर को बेंगलूर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा और धौनी ने कहा कि एक बार फिर बड़े स्कोर की उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि बेंगलूर को बड़े स्कोर वाले मैचों के लिए जाना जाता है। वहां टी20 मैचों में 180 के आसपास रन बन जाते हैं इसलिए नहीं पता कि वहां लक्ष्य देने या हासिल करने के लिए कितने रन पर्याप्त होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्रिकेट के लिए सही नहीं है इतने बड़े लक्ष्य: धौनी