अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सली हमलों में 18 लोगों की जान गई

नक्सलियों ने लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के मौके पर गुरुवार को बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ तथा उड़ीसा में खूनी खेल खेलते हुए पांच निर्वाचन अधिकारियों और 11 सुरक्षाकर्मियों समेत 18 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। झारखंड में तो नक्सलियों ने जमकर तांडव मचाया। लातेहार जिले के चंदवा थानान्तर्गत हेसला में बारूदी सुरंग का धमाकाकर अर्ध सैनिक बल के आठ जवान समेत दस लोगों की हत्या कर दी। इस घटना में 12 जवान गंभीर रूप से जख्मी हो गये। शहीद सभी जवान बीएसएफ के थे। नक्सलियों ने लातेहार के मनिका से चार और गुमला के विशुनपुर से तीन मतदानकर्मियों और तीन पुलिसकर्मियों का अपहरण कर लिया। दूसरी ओर गया में भाकपा-माओवादी के दस्ते ने इमामगंज विधानसभा क्षेत्र के सिंधुपुर बूथ पर दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी और चार रायफलें लूट लीं। माओवादियों की गोली से दो महिला वोटर भी जख्मी हो गईं। नक्सलियों के भय से देव प्रखंड के दक्षिणी इलाके के दो दर्जन मतदान केन्द्रों पर मतदान प्रभावित हुआ।ड्ढr ड्ढr इस बीच जमुई में चुनाव कराकर एवं ईवीएम लेकर लौट रहे आईटीबीपी के जवानों पर नक्सलियों ने सोनो प्रखंड के चरकापत्थर गांव के समीप हमला कर दिया। जवानों ने तुरंत जवाबी फायरिंग की और नक्सलियों को भागने के लिए मजबूर कर दिया। दोनों ओर से करीब डेढ़ घंटे तक गोलीबारी होती रही। उधर सासाराम संसदीय क्षेत्र के नक्सल प्रभावित कैमूर पहाड़ी पर बूथ संख्या 167 पर नक्सलियों ने हमला कर दिया। इसके बाद पुलिस नक्सलियों के बीच लगभग दो घंटे तक गोलीबारी हुई। जमुई में झाझा प्रखंड के घोड़पारन में नक्सलियों ने जदयू जिलाध्यक्ष ई.शंभूशरण व जदयू नेता सुबोध केशरी की बोलेरो गाड़ी पर हमला कर दिया जिसमें दोनों बाल-बाल बचे। दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में चुनाव अधिकारियों को ले जा रहे एक वाहन को नक्सलियों ने उड़ा दिया। इस हमले में पांच चुनाव अधिकारी मारे गए तथा दो जवान शहीद हो गए। दंतेवाड़ा में एक सीआरपीएफ जवान की मठभेड़ में मौत हो गई। उड़ीसा के मलकानगिरी जिले में नक्सलियों न कम से कम तीन मतदान केन्द्रों को आग के हवाल कर दिया और ईवीएम मशीनों तथा अन्य चुनाव सामग्री को नष्ट कर दिया।ड्ढr ड्ढr नक्सलियों ने मतदान को बाधित करन के मकसद से इलैक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को भी लूट लिया। इधर लातेहार में घटना सुबह 6.25 बजे हुई। बीएसएफ के जवान मतदानकर्मियों को आरा बूथ पर छोड़कर बस से लौट रहे थे। घटनास्थल पर ही पांच जवान शहीद हो गये। चालक और खलासी की भी मौत मौके पर ही हो गयी। तीन अन्य जवानों की मौत रांची ले जाने के क्रम में हुई। बस में कुल 25 जवान सवार थे। विस्फोट में बस के परखचे उड़ गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्सली हमलों में 18 लोगों की जान गई