DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ठीक हों सूबे के डाक्टरों की वेतन विसंगतियां

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. अम्बुमणि रामदास ने राज्य सरकार से सूबे के डाक्टरों की वेतन-विसंगतियों को ठीक करने को कहा है। उन्होंने सूबे के स्वास्थ्य प्रशासन से कहा है कि प्रदेश में डाक्टरों का जो वर्तमान वेतनमान है उसमें अच्छे डाक्टर सामने नहीं आयेंगे। गुणवत्तापूर्ण और विशेषज्ञ चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए डाक्टरों की वेतन-विसंगतियों को ठीक करना होगा।ड्ढr ड्ढr डा. रामदास ने राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के बिहार में क्रियान्वयन की समीक्षा के क्रम में सेवाओं का लाभ उठाने वालों के लिए दी जा रही सुविधाओं पर संतोष जताया तो सेवाएं देने के लिए जिम्मेवार डाक्टरों को मानक सुविधाएं नहीं देने पर चिन्ता प्रकट की। बिहार राज्य स्वास्थ्य सेवा संघ ने डा. रामदास से एनआरएचएम के तहत डाक्टरों की अखिल भारतीय चिकित्सा सेवा के गठन की मांग की। बेहतर स्वास्थ्य प्रशासन के लिए केन्द्रीय स्तर पर गठित उच्चस्तरीय ‘टिक्कू कमेटी’ ने भी अखिल भारतीय चिकित्सा सेवा के गठन की अनुशंसा की है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि पहले से नियुक्त सरकारी डाक्टरों के वेतन बढ़ाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। पर अब जितने भी नये विशेषज्ञ अस्पताल खुलने हैं उनमें बढ़िया वेतनमान पर डाक्टरों की बहाली पर विचार किया जा रहा है। वैसे भी स्वायत्तशासी इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में नियुक्त डाक्टरों का वेतनमान समेत अन्य सभी सुविधाएं अन्य सरकारी डाक्टरों से काफी बढ़िया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ठीक हों सूबे के डाक्टरों की वेतन विसंगतियां