अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार गिराने को माकपा और बसपा ने मिलाया हाथ

विश्वास मत के लिए एक-एक सांसद का हिसाबोोड़ रहे संप्रग के लिए रविवार का दिन नई चिंता लेकर आया। उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती से माकपा महासचिव प्रकाश करात ने मुलाकात की। इसके बाद मायावती ने कहा कि वाम दलों के साथ मिलकर करार पर वह संप्रग का खेल बिगाड़ देंगी।ड्ढr सरकार को डील की ओर कदम बढ़ाने से रोकने की पूरी कोशिश मेंोुटे प्रकाश करात मायावती के बंगले पर पहुँचे। उनसे बात की और मायावती ने साफ कर दिया कि केन्द्र से संप्रग को बाहर का रास्ता दिखाने में उनके 17 सांसद वाम दलों का साथ देंगे। इसके फौरन बाद करात ने कहा कि बसपा अध्यक्ष ने उन्हें यकीन दिलाया है कि 22ोुलाई को संप्रग को विश्वास मत में परााित करने के लिए बसपा पूरी ताकत झोंक देगी।ड्ढr करात की मानें तो मायावती ने यह भी बताया है कि वह कांग्रेस और सपा के कई सांसदों के संपर्क में हैं। माकपा महासचिव ने एटमी करार के खिलाफ वाम दलों की ओर से तैयार की गई पुस्तिकाओं व दस्तावाों का एक सेट भी मायावती को दिया। करार सेोुड़ी तकनीकी बारीकियाँ भी बताईं। उधर, माकपा पोलित ब्यूरो सदस्य एस. रामचंद्र पिल्लई ने कहा कि हम भाापा को छोड़ उन सभी सेकुलर दलों के संपर्क में हैंोो डील के खिलाफ हैं।ड्ढr 1ो बनेगी साझा रणनीति : सपा का साथ छोड़ने से कमाोर पड़े यूएनपीए को अब बसपा प्रमुख और यूपी की मुख्यमंत्री मायावती नई ताकत दे सकती हैं। मायावती ने यूएनपीए के संयोक चंद्रबाबू नायडू को फोन किया। बतायाोा रहा है कि नायडू चाहते हैं, मायावती यूएनपीए में शामिल हों। नायडू ने बताया कि वह 1ाुलाई को साझा रणनीति तय करने के लिए दिल्ली में मायावती और वाम दलों के नेताओं से मिलेंगे। (एोंसी)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सरकार गिराने को माकपा और बसपा ने मिलाया हाथ