DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों में मराठी भाषा अनिवार्य हो : राज ठाकरे

उत्तर भारतीयों के खिलाफ एक बार फिर आग उगलते हुए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के (मनसे) अध्यक्ष राजठाकरे ने सभी स्कूलों से पहली से दसवीं कक्षा तक मराठी भाषा अनिवार्य करने तथा दुकानों एवं प्रतिष्ठानों से केवल मराठियों को ही नौकरी पर रखने की चेतावनी दी है। राजठाकरे ने पत्रकारों से बातचीत में उम्मीद जताई कि अगले शिक्षा सत्र से सभी स्कूल मराठी भाषा अनिवार्य कर देंगे। उन्होंने कहा कि मराठियों को नौकरी पर रखने के लिए वह सभी दुकानों एवं प्रतिष्ठानों को चिट्ठी भेज रहे हैं और यदि उन्होंने उनकी बात नहीं मानी तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। मनसे प्रमुख ने कहा कि वह पहली बार ये मुद्दे नहीं उठा रहे हैं। जब वह शिवसेना में थे तब भी उन्होंने ये मुद्दे उठाए थे, लेकिन उस समय उनकी आवाज दबा दी गई थी। उन्होंने कहा कि दक्षिणी रायों में स्थानीय भाषा बोली जाती है, इसलिए उत्तर भारतीयों को वहां जाने का साहस नहीं होता। उन्होंने कहा कि मुंबई से 82 प्रतिशत मनीआर्डर उत्तर प्रदेश और बिहार भेजा जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्कूलों में मराठी भाषा अनिवार्य हो : राज ठाकरे