DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन के साथ भारत के संबंध अधिक जटिल: मेनन

चीन के साथ भारत के संबंध अधिक जटिल: मेनन

चीन के साथ भारत के संबंधों को अधिक जटिल करार देते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन ने कहा कि दोनों देशों ने मतभेदों के बावजूद शांति एवं स्थिरता के लिए जरूरी साम्य स्थिति को बरकरार रखा है।

उन्होंने कहा कि चीन के साथ हमारे संबंध का मामला अधिक जटिल है। निश्चित तौर पर हमारे बीच मुद्दे हैं जैसा कि उन दो पड़ोसियों के बीच हुआ करते हैं जो तेजी से बढ़ और बदल रहे हों। हमने संबंधों में गतिशील साम्य स्थिति को बरकरार रखने की चेष्टा की है जो शांति, स्थिरता एवं पहले से अनुमान व्यक्त करने की स्थिति के लिए जरूरी होती है। अभी तक हम इसे बरकरार रखने में सफल रहे हैं।

सरदार पटेल स्मृति व्याख्यान को यहां संबोधित करते हुए मेनन ने कहा कि 1950 में ही तत्कालीन गृह मंत्री सरदार पटेल ने सीमा प्रबंधन को बेहतर करने के मुद्दे को उठाया था। यह बात चीनी सेना द्वारा तिब्बत में प्रवेश के बाद उठी थी। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को लिखे पत्र में पटेल ने जो बिन्दु उठाए थे वे भारत को मजबूती देने के मकसद से थे। यह निश्चित तौर पर अभी तक हमारा एजेंडा है। सही मायनों में यह वह क्षेत्र ऐसा है जहां हमने पिछले दशक में प्रगति की। इससे भी ज्यादा साहस के साथ मैं यह कह सकता हूं कि यह इससे पिछले किसी भी अन्य दशक की तुलना में अधिक है। मेनन ने कहा कि पत्र लिखने के कुछ ही समय बाद पटेल का निधन हो गया तथा इसके विषयों पर नेहरू के साथ चर्चा नहीं हो पाई।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीन के साथ भारत के संबंध अधिक जटिल: मेनन