अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेढ़-दो घंटे में मिलेगा रुझान

लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमानेवाले प्रत्याशियों की इंतजार की घड़ी अब समाप्त होनेवाली है। 16 मई को सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हो जायेगी। डेढ़ से दो घंटे बाद रुझान मिलना शुरू हो जायेगा। आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक राउंड की गिनती की घोषणा निर्वाची पदाधिकारी या उनकी ओर से अधिकृत पदाधिकारी द्वारा माइक से की जायेगी। मतगणना चुनाव प्रेक्षक की देख-देख में संपन्न होगी। मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा की दृष्टि से केंद्रीय अर्धसैनिक बल तथा राज्य पुलिस बल तैनात रहेंगे। प्रत्येक केंद्र पर निषेधाज्ञा लागू रहेगी। इवीएम की तकनीकी त्रुटियों को दूर करने के लिए केंद्रों पर विशेषज्ञ उपस्थित रहेंगे। संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अशोक कुमार सिन्हा ने गुरुवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में मतों की गिनती के लिए विधानसभावार अलग-अलग हॉल बनाये गये हैं, जिनमें न्यूनतम 11 तथा अधिकतम 30 राउंड में मतों की गिनती पूरी की जायेगी। प्रत्येक हॉल में बूथ संख्या के अनुसार 14 से 24 टेबुल लगाये गये हैं। राज्य के 14 लोकसभा क्षेत्रों की मतों की गिनती 15 केंद्रों पर होगी। दुमका के मतों की गिनती दुमका के अलावा जामताड़ा में भी होगी। जामताड़ा में दुमका लोकसभा एवं जामताड़ा विधानसभा उपचुनाव के लिए एक साथ वोट डाले गये थे।ड्ढr प्रत्येक मतगणना केंद्र पर सहायक निर्वाचन पदाधिकारी प्रभारी होंगे। प्रत्येक टेबुल पर एक पर्यवेक्षक तथा एक सहायक के अलावा एक-एक माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात रहेंगे। मतगणना में राज्यभर में 5000 कर्मी लगाये गये हैं। टेबुल पर कर्मियों की प्रतिनियुक्ित रंडमाक्षेशन पद्धति से की जायेगी। रंडमाक्षेशन प्रक्रिया की वीडियोग्राफी करायी जायेगी। माइक्रो ऑब्जर्वर प्रत्येक राउंड के मतों की विवरणी एक शीट पर दर्ज करंगे तथा उसे चुनाव प्रेक्षक को सुपुर्द करंगे। मतगणना की प्रक्रिया पर सुदृढ़ नियंत्रण के लिए आयोग द्वारा यह व्यवस्था की गयी है। इस बार वैसे मतदाताओं की भी गणना की जायेगी, जिन्होंने रािस्टर 17ए में विरोध दर्ज करते हुए किसी भी प्रत्याशी को वोट देने से इनकार कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डेढ़-दो घंटे में मिलेगा रुझान