DA Image
14 जुलाई, 2020|8:19|IST

अगली स्टोरी

बिना किसी खतरे के बीच बातचीत चाहते हैं ओबामा

बिना किसी खतरे के बीच बातचीत चाहते हैं ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि वह रिपब्लिकन सांसदों से संघीय बजट के किसी भी पहलू पर बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि वह यह बातचीत अमेरिकी डिफाल्ट और देश में जारी आंशिक शटडाउन के भय के बीच नहीं करना चाहते।

फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी के मुख्यालय में उन्होंने कहा कि यह कोई विषय ही नहीं है कि मैं बातचीत और काम करने का इच्छुक नहीं हूं और व्यवहारिक निर्णय के साथ कोई समझौता नहीं करना चाहता। अमेरिकी संसद में अगले साल के बजट पर सहमति न बन पाने की वजह से 30 सितंबर की मध्यरात्रि से यहां आंशिक शटडाउन शुरू हो गया है।

राष्ट्रपति ने कहा कि हम हमारी अर्थव्यवस्था और मध्यमवर्गीय परिवार को आगे होने वाले नुकसान के खतरे के बीच बातचीत नहीं करेंगे। हम लंबे समय तक चलने वाले शटडाउन के खतरे के बीच बातचीत नहीं करेंगे।

ओबामा ने एफईएमए कर्मचारियों से कहा कि हम आर्थिक आपदा के खतरे के बीच बातचीत नहीं करेंगे क्योंकि कांग्रेस के अमेरिकी दायित्व का निर्वहन न करने पर अर्थशास्त्रियों एवं कंपनी के मुख्य प्रबंध अधिकारियों द्वारा दी जा रही चेतावनी के परिणाम सामने आ सकते हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि जनता की नौकरी जाने से उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है और इसके साथ ही उन्होंने प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष जॉन बोहनर से बिना किसी मतदान के हालिया प्रस्ताव को लाने की मांग की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बिना किसी खतरे के बीच बातचीत चाहते हैं ओबामा