DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैनिकों ने ट्रन से दर्जनों यात्रियों को जबरन उतारा

डाउन 3020 हावड़ा-काठगोदाम एक्सप्रस से यात्रा कर रहे दर्जनों यात्रियों को सेना के जवानों ने दो बोगियों पर कब्जा जमाते हुए छपरा जंक्शन पर जबरन उतार दिया। इनमें 75 फीसदी महिला यात्री शामिल थीं जिनमें कई बीमार बच्चियां भी थीं। जैसे ही उक्त ट्रन बुधवार की रात साढ़े आठ बजे छपरा जंक्शन पर पहुंची, सेना के जवानों ने गोरखपुर से उक्त ट्रन पर सवार यात्रियों को जबरन उतारना शुरू कर दिया और दो बोगियों को पूरी तरह खाली करा अपना कब्जा जमा लिया। गार्ड से पूछने पर उन्होंने बताया कि सेना के कुछ जवान हैं जिनका परिवार जा रहा है, इसलिए वे कब्जा जमाते हुए गेट बंद कर लिया। पीड़ित यात्रियों ने अपने टिकट के साथ जंक्शन पर कुछ देर तक हो-हंगामा भी किया। प.चम्पारण के धनाव निवासी पिंटू, ट्विंकल, रिमझिम, मुस्कान, रोशनी, पायल, सुलताना, पम्मी, करिश्मा आदि ने कहा कि अब वे आगे किस ट्रन से जाएं, उन्हें समझ में नहीं आ रहा है।ड्ढr ड्ढr छपरा में टीसी ने यात्री का सिर फोड़ाड्ढr छपरा (सं.सू.)। छपरा जंक्शन पर बुधवार को एक यात्री ने पूछताछ कार्यालय के एक टीसी से ट्रन के समय के बार में पूछा तो उन्होंने र्दुव्‍यवहार करते हुए ऐसा धक्का दिया कि दीवाल से लगकर यात्री का सिर फट गया। इसके बाद दाउदपुर थाने का बरवां निवासी व पीड़ित यात्री मंटू कुमार सिंह एसएस व एएसएम कार्यालय में शिकायत दर्ज कराने के लिए पहुंचा पर शिकायत भी दर्ज नहीं की गई। यात्री ने ड्यूटी पर तैनात टीसी पर आरोप लगाते हुए बताया कि जब मैंने उनसे गंगा-कावेरी एक्सप्रस के समय के बार में पूछा तो वे बिगड़ते हुए जोर से धक्का दे दिए जिससे मेरी यह हालत हुई। थक-हारकर वह जीआरपी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने गया और आवेदन दिया। हालांकि समाचार लिखे जाने तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सैनिकों ने ट्रन से दर्जनों यात्रियों को जबरन उतारा