अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हंगामे के डर से नहीं बंट रहे कूपन

सारण जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के 8 लाख 32 हजार 437 लाभान्वितों में वितरण हेतु जून के अंतिम सप्ताह में पहुंचा राशन-किरासन कूपन अब तक जिला तथा प्रखंड मुख्यालयों के कार्यालयों की ही शोभा बढ़ा रहा है। पूर जिले की बीपीएल सूची पर करीब 77 हजार आपत्ति पत्र मिले हैं। संबंधित एसडीओ द्वारा बीडीओ के माध्यम से इन आपत्तियों का सत्यापन कराना है। साथ ही निपटारा कर नियमानुसार अगले साल की सूची में नाम जोड़ना या घटाना है। ऐसी स्थिति में वितरण से जुड़े पदाधिकारियों को इस बात को लेकर आशंका है कि कूपन वितरण के दौरान हंगामा निश्चित है। फलत: वे वितरण के प्रति फिलहाल उदासीनता दिखा रहे हैं।ड्ढr ड्ढr वहीं पांच शहरी क्षेत्रों छपरा नगर पर्षद, सोनपुर, मढ़ौरा, रिविलगंज और दिघवारा नगर पंचायतों के सव्रेक्षित 78540 परिवारों की सूची अभी भी सरकार के यहां विचाराधीन है। फलत: लाभुकों को कूपन मिलने की तत्काल उम्मीद नहीं दिख रही है। हालांकि 1 जून 08 से मई 0तक 12 माह के लिए प्रति परिवार को दिए जाने वाले इन कूपनों से ही जून माह का राशन-किरासन मिलना था किन्तु अब तक वितरण नहीं होने से जून का किरासन बिना कूपन के ही बंटा।ड्ढr ड्ढr वहीं राशन को कूपन के आधार पर बंटवाए जाने का दावा प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। इसके लिए डीएम पी.के. साह द्वारा गत 1 जून से ही कूपन वितरण कराने का निर्देश दिया था परन्तु अब तक किसी भी जगह से कूपन वितरण की सूचना जिला प्रशासन तक नहीं पहुंची है। अब देखना यह है कि प्रशासन इस स्थिति से निबटने के लिए अगला कौन सा कदम उठा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हंगामे के डर से नहीं बंट रहे कूपन