अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

291 करोड़ इंजीनियरों के बैंक खातों में

राज्य के ग्रामीण विकास के इंजीनियरों के व्यक्ितगत खाते में 2रोड़ रुपये जमा हैं। सरकार इन पैसों को खर्च हुआ मानती है।महालेखाकार (एजी) ने राज्य सरकार से कहा है कि जांच के दौरान स्पष्ट हो गया है कि कोषागारों से निकाली गयी कम से कम यह राशि इंजीनियरों के व्यक्ितगत बैंक खाते में है।ड्ढr उन्होंने राज्य सरकार को पार्किंग की गयी इस राशि को बैंकों से निकालने और दोषी लोगों के विरूद्ध कार्रवाई करने को कहा है। ग्रामीण विकास विभाग के अधीन विशेष प्रमंडलों का यह मामला है। निर्माण कार्यो के लिए अभियंताओं ने कार्य प्रमंडलों से अग्रिम लिया था। प्रमंडलों ने काम समाप्त होने की बात कहकर कोषागारों से राशि निकाली थी। बाद में उसे सेविंग तथा करंट एकाउंट में इंजीनियरों ने जमा कर दिया।ड्ढr एजी ने प्रमंडल एवं उसके इंजीनियरों के खाते में जमा राशि की फेहरिस्त राज्य सरकार को उपलब्ध करा दी है। हाईकोर्ट में बैंकों में जमा राशि को लेकर केस हुआ था। एजी ने राज्य सरकार को भेजे गये पत्र में कहा है कि बैंकों में जमा राशि की शिकायत एवं हाईकोर्ट में दायर केस के मद्देनजर उन्होंने जांच करायी। जांच में जो बातें आयी हैं, वह सरकार को बताया जा रहा है। उन्होंने मुख्य सचिव समेत राज्य सरकार के विभिन्न अधिकारियों को पूर्व में भेजे गये पत्रों पर कार्रवाई नहीं होने का हवाला दिया है।विशेष प्रमंडल राशिड्ढr ड्ढr रांची85.75 करोडड़्ढr धनबाद2रोडड़्ढr जमशेदपुर22.53 करोडड़्ढr दुमका 31.17 करोडड़्ढr सिमडेगा61.0 करोडड़्ढr देवघर 16.81 करोडड़्ढr साहेबगंज36.72 करोडड़्ढr पाकुड़ 06.20 करोड़ ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 291 करोड़ इंजीनियरों के बैंक खातों में